एन एस यू आई ने दी चेतावनी 27 अगस्त को जिले के जिन महाविद्यालयों में शिक्षकों की कमी है उन महाविद्यालायों में काॅलेज बंदी की जायेगी

नएसयूआई   के जिला अध्यक्ष सौरभ मंमगाई नें एक बयान जारी करते हुये कहा की एनएसयूआई पदाधिकारियों द्वारा पूर्व में शिक्षको की कमी को दूर करनें के लिये उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धन सिंह रावत को ज्ञापन प्रेषित किया गया था जिसके बाद उनके द्वारा आश्वासन दिया गया था, की महाविद्यालयों में शिक्षकों व संसाधनों की कमी को दूर किया जायेगा लेकिन नूतन सत्र 2019 शुरू होनें के बाद भी उनके द्वारा दिये गये आश्वासनों को पूरा नहीं किया गया जिस कारण छात्रों का भविष्य अधर में है, इससे साफ पता चलता है कि राज्य की भाजपा सरकार छात्र विरोधी है तथा छात्रों के भविष्य को लेकर चिंतित नहीं है। विगत हो की एनएसयूआई काफी समय से महाविद्यालयों में हो रही शिक्षकों की कमी व संसाधनों की कमी के लिये लगातार आन्दोलनरत रही है।


सौरभ मंमगाई ने कहा की इसके विरोध में 27 अगस्त को जिले के जिन महाविद्यालयों में शिक्षकों की कमी है उन महाविद्यालायों में काॅलेज बंदी की जायेगी। उसके बाद भी राज्य की भाजपा सरकार द्वारा शिक्षकों व संसाधनों की कमी को पूरा ना किया गया तो एनएसयूआई सचिवालय घेराव करेगी।