हरिद्वार की सड़कें बनी गड्ढा सड़कें@एसएसपी ने प्रशासन को कराया इसे अवगत डीएम बोले जल्द भरे जाएंगे सभी गड्ढे

 

धर्मनगरी हरिद्वार पिछले लंबे समय से बदहाल सड़कों को झेल रहा है फोर लेन के काम के धीमी गति से चलने के कारण सड़कें जगह जगह टूटी और खस्ता हाल में हैं सड़कों में इतने गड्ढे है कि लगता ही नहीं सड़क पर चल रहे हैं या गड्ढों में इस कारण आये दिन सड़कों पर हादसे हो रहे हैं और लोग इन सड़कों से इतने परेशान हो गए हैं कि उनके द्वारा शासन और प्रशासन से गुहार लगाई जा रही है बावजूद इसके शासन और प्रशासन इसे लेकर बिलकुल भी गंभीर नज़र नहीं आ रहा है  

 

जगह जगह टूटी सड़कें अब हरिद्वार की पहचान सी बन गयी हैं शहर के अंदर और बाहर सड़कों का कमोवेश एक सा ही हाल है खस्ताहाल हो चुकी सड़कों के कारण लोग काफी परेशान हो गए हैं

साथ ही बरसात के दिनों में जल भराव के चलते इनके कारण आये दिन सड़क दुर्घटनाएं भी बढ़ी हैं हालात ये है की देहरादून दिल्ली नेशनल हाइवे हो या शहर की अंदर की सड़कें सभी जगह गड्ढे ही गड्ढे नजर आ रहे हैं 

 

ये भी पढ़े - उत्तराखंड से भी है भगवान कृष्ण का गहरा नाता@कृष्ण के माथे पर लगा मोर पंख हरिद्वार से ही जाता था - Yash Vision - https://yashvision.page/WeZAbu.html

 

स्थानीय लोगों का कहना है कि हरिद्वार की सड़कों के गड्ढे आज तक जिला प्रशासन और शासन सही नहीं कर पाया है इन गड्ढों की वजह से कई दुर्घटनाएं भी हो चुकी है मगर सरकार कुंभकरण की नींद सो रही है कुछ समय बाद ही महाकुंभ मेला शुरू होने वाला है अभी तक कोई भी कार्य होता दिखाई नहीं दे रहा है इन गड्ढों और खस्ताहाल सड़कों की वजह से हरिद्वार के लोग काफी परेशान हैं इन गड्ढों में पानी भर जाता है इस वजह से गाड़ी चलाते हुए गड्ढे दिखाई नहीं देते और फिर दुर्घटना हो जाती है हरिद्वार की सड़के गड्ढा सड़क के नाम से ही चल रही है यहां के विधायक और शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को इस तरफ ध्यान देना चाहिए

 

 

 खस्ताहाल सड़कों की वजह से पुलिस को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है  एसएसपी सेंथिल अबुदाई कृष्णराज एस का कहना है कि लगातार बारिश पड़ने की वजह से सड़कों पर अपनी जगह गड्ढे हो चुके हैं इस वजह से ट्रैफिक की रफ्तार काफी धीमी हो जाती है जहां संभव हो पा रहा है पुलिस द्वारा इन गड्ढों को भरने का कार्य किया जा रहा है इन खस्ताहाल सड़कों को लेकर हमारे द्वारा डीएम एसडीएम को अवगत कराया गया है इन खस्ताहाल सड़कों का काम जल्दी शुरू किया जाए क्योंकि इन गड्ढों की वजह से दुर्घटनाएं होती रहती है मेरे द्वारा ट्रैफिक पुलिस को निर्देश दिया गया है जो ज्यादा गहरे गड्ढे हैं उनको तत्काल भरा जाए

 

 

वही जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी का कहना है की हरिद्वार की खस्ताहाल सड़कों को लेकर  मंत्री मदन कौशिक द्वारा भी बैठक की गई थी उनके द्वारा नगर निगम के अधिकारी को तत्कालीन गड्ढे को भरने के निर्देश दिए गए है बरसात के कारण जलभराव होने की वजह से गड्ढों में पानी रुक जाता है कांवड़ मेले के दौरान इन गड्ढों को भरने के लिए टेंपरेरी बराव कराया गया था मगर लगातार भारी बारिश और हैवी ट्रैफिक की वजह से सड़कों पर गड्ढे दुबारा हो गए हैं एनएच के अधिकारियों को इन गड्ढे को भरने के लिए निर्देश दिए गए है और साथ ही उन को हिदायत दी गई है इन सभी गड्ढों में रोड़ा बजरी के साथ कॉन्क्रीट मिलाकर डालें जिससे दुबारा गड्ढे ना हो सके

 

 

-सड़के आज के समय में इंसान की मूलभूत सुविधाओं में शुमार हो गयी हैं लेकिन हरिद्वार को देख नहीं लगता कि यहाँ पर सड़कों की और प्रशासन का कोई ध्यान है और ये हाल तब है जब यहां बड़ी संख्या में दूर राज्यो से श्रद्धालु पहुचते है अब देखना ये होगा की प्रशासन का इस और अब भी ध्यान जाता है या नहीं या ऐसे ही ये सड़को के गड्ढे आने वाले श्रद्धालुओं का यू ही स्वागत करते रहेंगे और हरिद्वार की जनता इन गड्ढों की वजह से त्रस्त रहेगी