कैलाश नदी के पुल के क्षतिग्रस्त हो जाने से गांव के लोग-परेशान 



रिपोर्टर-दीपक भारद्वाज सितारगंज



क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से चीकाघाट पुल क्षतिग्रस्त हो गया साथ ही कई एकड़ फसल भी जलमग्न हो गई। नदी के लगातार बढ़ रहे जलस्तर से बिजली के खंबो के जमींदोज होने का भी खतरा बना हुआ है। लिंक मार्ग पर बने कैलाश नदी के पुल के क्षतिग्रस्त हो जाने से आने जाने वाले लोगों को में भय का माहौल है क्योंकि पानी के तेज बहाव के कारण पुल की सपोर्टिंग  के लिए बनाई गई साइड वॉल की मिट्टी भी बह चुकी है। जिससे पुल को मजबूती देने वाली वालों में भी दरारें पड़ गई हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अगर विभाग द्वारा जल्द ही बचाव कार्य नहीं किए गए तो कोई बड़ी जनहानि होने हो सकती है। पहाड़ों पर हुई बरसात के बाद कैलाश नदी का जलस्तर बढ़ गया है तेज बहाव के कारण नदी किसानों की कृषि भूमि खराब हो रही है कैलाश नदी के उफनाने से आसपास के किसानों मैं दहशत फैल गयी है जलस्तर बढ़ने से नदी ने भू कटाव तेज कर दिया है जिसमें आसपास के लोगों को कभी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है किसानों का खेती-बाड़ी का नुकसान होने का खतरा बना हुआ है जिसमें चीकाघाट रसोईया पुर दोनों गांव के लोगों को खतरा बना हुआ है