राज्य सरकार आंदोलनकारियों पर झूठे मुकदमे  दर्ज कर आंदोलनों को तोड़ने का प्रयास कर रही है.....जय प्रकाश उपाध्याय

उत्तराखंड क्रांति दल के निवर्तमान महामंत्री जय प्रकाश उपाध्याय ने कहा कि राज्य सरकार आंदोलनकारियों पर झूठे मुकदमे  दर्ज कर आंदोलनों को तोड़ने का प्रयास कर रही है उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए विभिन्न धरना प्रदर्शनों  पर  राज्य सरकार ने  झूठे मुकदमे  दर्ज किए हैं  साथ ही राजधानी  गैरसैंण  के लिए आंदोलन कर रहे आंदोलनकारियों  108 कर्मियों   शराब का विरोध कर रही महिलाओं पर राज्य सरकार द्वारा  गुपचुप तरीके से मुकदमे दर्ज कर दिए गए  राज्य सरकार  जनता की आवाज को  दबाना चाहती है उक्रांद ने  राज्य की  जनता को प्रखर आंदोलन करने का विकल्प  दिया है  उत्तराखंड क्रांति दल  राज्य की जनता और आंदोलनकारियों से आह्वान  करता हैं कि वह  राज्य में विभिन्न समस्याओं के खिलाफ प्रखर रूप से उत्तराखंड क्रांति दल के बैनर के साथ मिलकर आंदोलन करें उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ता माननीय न्यायालय का पूर्ण सम्मान करता है  इसी क्रम में दल के पूर्व महामंत्री श्री बहादुर सिंह रावत एवं भगवती प्रसाद डोभाल ने न्यायालय में समर्पण कर दिया है माननीय बहादुर सिंह रावत  एवं भगवती डोभाल कई दिनों से  जेल में बंद हैं और जल्द ही अन्य कार्यकर्ता भी माननीय न्यायालय में समर्पण करेंगे जिसके लिए 19 तारीख की तिथि तय की गई है कार्यकर्ताओं को पूरे सम्मान के साथ माननीय न्यायालय में समर्पण कराया जाएगा और कार्यकर्ताओं मेअधिक जोश और उत्साह का संचार इन  झूठे मुकदमों से होगा और निश्चित तौर पर यह पुनः एक अगस्त क्रांति के रूप में जन्म लेगा ऐसा हमारा विश्वास है दमनकारी नीति से चलने वाले सरकार ज्यादा दिन तक अपना राज नहीं चला सकते और वह दमनकारी रास्ते को छोड़कर  राज्य में व्याप्त भ्रष्टाचार अव्यवस्थाओं पर ध्यान दें और तमाम आंदोलनकारियों की समस्याओं को गंभीरता से सुने यदि  राज्य सरकार ऐसा नहीं करती है तो इसके भविष्य में गंभीर परिणाम सामने आएंगे,जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।प्रेस वार्ता में केंद्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री हरीश पाठक,महानगर अध्यक्ष सुनील ध्यानी,जिलाध्यक्ष श्री विजय बौड़ाई,श्री कैलाश भट्ट थे।