कांग्रेस ने मुख्य सचिव से मिल कर सरकारी हस्पतालों में बड़ाये गए यूज़र्स चार्ज वापस लेने की मांग की

: उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्य कांत धस्माना के नेतृत्व  में आज कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के मुख्य सचिव श्री उत्तपल कुमार सिंह से मिल कर राज्य सरकार द्वारा सरकारी हस्पतालों में बड़ाये गए पंजीकरण शुल्क से ले कर प्राइवेट सेमी प्राइवेट वार्डों के शुल्कों में बेतहाशा वृद्धि को गरीब विरोधी निर्णय बताते हुए उसे तत्काल वापस लेने की मांग की। श्री धस्माना ने मुख्य सचिव से कहा कि राज्य का कमजोर वर्ग का गरीब आदमी ही अक्सर सरकारी हस्पताल में उपचार के लिए आता है और अगर उससे पंजीकरण समेत विभिन्न कार्यों के लिए यूज़र्स चार्ज कई गुना वसूला जाएगा तो वो कैसे अपना उपचार करवाएगा। मुख्य सचिव को सौंपे ज्ञापन में कहा गया कि सीएचसी जिला हस्पताल व आईपीडी के पंजीकरण शुल्क में 200 से साड़े तीन सौ प्रतिशत की वृद्धि की गई है व अल्ट्रा साउंड के शुल्क 354 रुपये को दोगुना 700 रुपये कर दिया गया है। श्री धस्माना ने मुख्य सचिव से कहा कि अब हस्पताल में भर्ती होने वाले मरीज को 119 की जगह 240 , 190 की जगह 400 व 300 की जगह 800 रुपये भरने होंगे। श्री धस्माना ने कहा कि सरकार का यह फैसला गरीबों के खिलाफ है और जनता में इसके खिलाफ भारी आक्रोश है। उन्होंने कहा कि पहले ही देहरादून समेत पूरे राज्य में फैले डेंगू के प्रकोप से लोग परेशान हैं और अब सरकार का यह जन विरोधी निर्णय गरीब आदमी की तो कमर ही तोड़ देगा। मुख्य सचिव ने कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को विश्वास दिलाया कि स्वास्थ्य विभाग से इस संबंध में विस्तृत रिपोर्ट तलब कर उचित कार्यवाही करेंगे। प्रतिनिधिमंडल में महेश जोशी,राजेश चमोली,अमरजीत सिंह, पार्षद संगीता गुप्ता,पार्षद कोमल वोहरा, राजेश नंदा, देवेंद्र अरोड़ा,अनुराग गुप्ता, अनुज दत्त शर्मा,विक्रांत राठी,पंकज अग्रवाल ,घनश्याम वर्मा तथा रविन्द्र शर्मा शामिल थे।