प्रदूषण केंद्रों पर हो रही है मनमानी कॉमर्शियल वाहनो का प्रदूषण करने को नही तैयार

सिटी बस यूनियन के अध्यक्ष विजय वर्धन डंडरियाल ने प्रदूषण केंद्र  संचार को पर  आरोप लगाते हुए  बताया कि  बाला जी प्रदूषण केंद्र जो आई एम ए प्रेम नगर के नजदीक रांगड़वाला के पास स्थित है उस प्रदूषण केंद्र पर डीजल वाहनों का जिसमें  सिटी बसें भी हैं पूर्व में इसी केंद्र पर से हमारी बसों को प्रदूषण जांच पत्र दिया जाता था लेकिन वर्तमान समय पर सिटी बसों को प्रदूषण जांच केंद्र में साफ मना कर दिया गया है कि हम बसों की प्रदूषण जांच नहीं करेंगे जिससे हमें ट्रांसपोर्ट नगर अपनी बसों को जांच प्रदूषण  केंद्र  पर ले जाना पड़ रहा है जिससे हमारे को 300 से ₹400 रुपए का अतिरिक्त नुकसान उठाना पड़ रहा है इसलिए हम  परिवहन विभाग से मांग करते हैं की उक्त जांच केंद्र को डीजल का जो प्रदूषण जांच लाइसेंस मिला हुआ है उसको निरस्त किया जाए और किसी अन्य को इसी स्थान के आसपास पर डीजल का प्रदूषण जांच लाइसेंस दिया जाए जिससे कि हमें नुकसान भी ना उठाना पड़े और यहां पर डीजल की गाड़ियों का प्रदूषण आसानी से हो जाए भी हमारी बसों का प्रदूषण जांच पत्र बालाजी केंद्र से ही मिलता था जो की साक्ष्य के रूप में  है


वही ट्रांसपोर्ट नगर में दो डीजल प्रदूषण केंद्र खुले हुए हैं जिन पर खुलेआम अवैध वसूली भी की जा रही है जिसमें ₹100 की जगह 200 रुपए तक वसूली जा रहे हैं और परिवहन विभाग आंखें बूंदे बैठा है कहीं ना कहीं लगता है कि यह सब परिवहन विभाग की सह में हो रहा है
जितने भी प्रदूषण जांच केंद्र हैं वह अपने आगे रेट लिस्ट को लगाएं जिससे कि आम जनता से यह ज्यादा पैसे ना ले सके जो परिवहन विभाग से अप्रूव हो
जिन केंद्रों पर रेट लिस्ट ना चस्पा हो उसका परिवहन विभाग चालान करें