दून मेडिकल कॉलेज में नवजात शिशु का शव मिले से फैली सनसनी जाँच के आदेश 


देवभूमि उत्तराखंड में  एक बार फिर शर्मसार करने वाला मामला सामने आया दरअसल में उत्तराखंड में लगातार नवजात शिशु के मिलने की खबरें अब आम हो चुकी है हालांकि बाल महिला आयोग विभाग लगातार इस पर अपनी नजरें बनाए हुआ है और आला अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है कि इस तरीके के मामलों पर वह अपनी नजरें रखने  के बावजूद उसके राजधानी देहरादून के सबसे बड़े दून मेडिकल कॉलेज में बीती रात को एक महिला नवजात शिशु को जन्म देने के बाद दून अस्पताल की इमरजेंसी में रखकर चली गई जिसके बाद दून मेडिकल कॉलेज में हड़कंप मच गया वही आला अधिकारियों की मानें तो नवजात शिशु मृतक हालत में मिला था और उसे दून अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया है साथ ही मृतक नवजात शिशु की रिपोर्ट पुलिस में करा दी गई है वहीं अस्पताल प्रशासन के डॉक्टर के के टम्टा ने  जानकारी देते हुए कहां की उन्होंने अस्पताल मैं जांच के आदेश दे दिए गए है लेकिन अस्पताल में किसी ने भी इस बच्चे को जन्म नहीं दिया साथ ही उन्होंने कहा कि बच्चा 4 माह से अधिक नहीं है जिस पर कि उनको शक है कोई  बच्चे को अस्पताल परिसर में फेंक कर चली गई है आपको बता दें कि दून मेडिकल कॉलेज में इससे पहले भी कहीं इस तरीके के मामले सामने आ चुके हैं पूरे मामले पर पुलिस जांच कर रही है साथ ही मेडिकल कॉलेज की एमरजेंसी में लगे सीसीटीवी कैमरा को खंगालने में लगी हुई है