भारतीय सेवा लोकदल के उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष समस्त साथियों के साथ उत्तराखंड क्रान्ति दल में शामिल हुए।


 उत्तराखंड क्रान्ति दल की प्रेस वार्ता में दल के माननीय अध्यक्ष श्री दिवाकर भट्ट जी ने अपने संबोधन में कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के कुनीतियो के कारण उत्तराखंड की जनता त्रस्त है इसलिए जनता इस बात को समझने लग गयी कि राज्य के विकास की अवधारणा को उत्तराखंड क्रान्ति दल ही समझता है।इसी परिपेक्ष श्री भट्ट जी ने कहा कि दल से अलग हुए लोगो को वाफिस दल से जोड़ना होगा।सभी पुराने साथियो की घर वाफसी होगी और दल एकजुट होकर आगे बढ़ेगा।आज दल के पूर्व केंद्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री ए०पी० जुयाल ने वापिसी हुई।उनके साथ उपगम दत्त नौटियाल,सुलोचना बहुगुणा,बी०पी०डोभाल,बी०पी०ममगाईं,देवेंद्र रावत और वीरेश चौधरी थे। साथ ही भारतीय लोक सेवा दल के प्रदेश अध्यक्ष उत्तराखंड क्रान्ति दल में आश्था जताते हुये प्रमिला रावत के प्रयासों से श्री आशीष नौटियाल सभी साथियो के साथ दल के अध्यक्ष श्री दिवाकर भट्ट जी के सामने दल में शामिल हुए उनके साथ मुख्यतः विशाल सिंह,विक्रम,अजय भट्ट,मीना बमराडा, सरिता लेखवाल शामिल हुई।1UK की टीम के राधा नौटियाल,कान्ति नौटियाल,सरिता लेखवार, विमल राणा,दिनेश बिष्ट,राजेश शर्मा,शंकर सती,जसपाल सिंह भंडारी,पवन,सुनीता मौर्य,विनोद चौहान  ने दल में शामिल हुए।इस अवसर पर दल में शामिल हुए सभी का स्वागत किया गया।श्री भट्ट जी ने कहा राज्य का स्वप्ना तभी पूरा होगा जब युवा दल से जुड़ेंगे। 2026 को पूरे देश के परिसीमन होना है उत्तराखंड राज्य के परिसीमन से राज्य का पहाड़ी स्वरूप बदल जायेगा ।जिस पहाड़ के लिए राज्य मांगा वह यह परिसीमन पहाड़ को बर्बाद कर देगा।इसलिए युवाओं को राज्य बचाने के लिए आगे आना होगा और उत्तराखंड क्रान्ति दल में अपनी राजनैतिक क्षमताओं से आगे बढ़े।इस अवसर पर दल के पुराने साथी श्री चतुर सिंह नेगी जी ने घर वाफसी करी।कार्यक्रम का संचालन डी के पाल जी ने किया। इस अवसर पर दल के पूर्व अध्यक्ष श्री बी डी रतूड़ी, हरीश पाठक, ए पी जुयाल लताफत हुसैन,सुनील ध्यानी,देवेंद्र कंडवालजय प्रकाश उपाध्याय,रेखा मिंया,सुरेंद्र पेटवाल,विजय बौड़ाई,राजेन्द्र बिष्ट,कमल कांत,धर्मेंद्र कठैत,उत्तम रावत अशोक नेगी,नितिन सैनी,गुलबहार राव,राजेश्वरी रावत,लक्ष्मी रावत,मंजू नेगी आदि थे।