गाँधी के नाम पर विपक्ष ने कटा हंगामा देखे आखिर क्यों 

विधान सभा के शीतकालीन सत्र के दौरान सदन में नेताजी और गांधी जी को लेकर हंगामा देखने को मिला। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने प्रीतम सिंह और इंद्रा की तारीफ करते करते नेताजी और गांधी पर कर कटाक्ष गए। सुबोध उनियाल ने सदन में कहा कि इंद्रा और प्रीतम अच्छे हो सकते है लेकिन नेताजी और गांधी प्रीतम और इंद्रा जैसे नही हो सकते,गांधी और नेताजी का नाम आने पर कांग्रेस ने सदन में हंगामा काट दिया,कांग्रेस के विरोध पर विधान सभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दोनों नाम हटाने के निर्देश दे दिए,नेता उपसदन करण मेहरा ने का कि वह विधानसभा अध्यक्ष का धन्यवाद अदा करता हूँ कि जो उन्होंने सदन की कार्यवाही से नेताजी और गांधी के नाम हटा दिए,वही हंगामे के बाद कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल उनियाल ने कहा कि मैंने महात्मा गांधी और नेताजी पर नही की कोई टिप्पणी नही की मेरा नेताजी कहने का मतलब हरीश रावत और गांधी से आश्रय राहुल गांधी से था।