शीतकालीन सत्र में महंगाई का मुद्दा  गूंजा 

 

- विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू हो गया है। फिलहाल सत्र के लिए 10 दिसंबर तक की अवधि तय की गई है। सत्र में चारधाम श्राइन बोर्ड समेत 11 विधेयक पेश किए गए  जाएंगे। विधायकों ने 833 सवाल सत्र के लिए लगाए हैं। 

सत्र की कार्रवाई शुरू होते ही विपक्ष ने महंगाई का मुद्दा उठा दिया। प्रश्नकाल रोककर विपक्ष ने इस पर चर्चा की मांग रखी। इस दौरान विपक्ष ने हंगामा किया। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की महंगाई से सम्बंधित सूचना को नियम 58 में सुनने की व्यवस्था के बाद माहौल शांत हुआ। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि सरकार महंगाई को रोकने में नाकाम साबित हुई है। आम वस्तुओं के दाम बढ़ने से जनता बेहद परेशान हैं।

 

महंगाई को लेकर विपक्ष के तमाम विधायकों ने सदन में सरकार को घेरने का प्रयास किया। सरकार की तरफ से संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने मंहगाई को लेकर उठाये गए विपक्ष के सवालों का जवाब दिया। भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल ने महंगाई पर कांग्रेस के आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उनकी कथनी और करनी में अंतर है। महगाई को लेकर कांग्रेस के तमाम आरोप झूठ का पुलिंदा है।