Page Nav

HIDE

Gradient Skin

Gradient_Skin

Breaking News

latest

टेहरी डाम की लड़ाई कांग्रेस अंजाम तक पहुंचाएगी-प्रीतम सिंह

  टेहरी डाम की सौ प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के केंद्रीय सरकार के निर्णय के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्वाहन पर आज बड़ी सं...

 


टेहरी डाम की सौ प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के केंद्रीय सरकार के निर्णय के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्वाहन पर आज बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नई टिहरी के भागिरथीपुरम स्थित टीएचडीसी मुख्यालय में धरना दे कर राज्य व केंद्र सरकार के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन किया। इस अवसर पर आयोजित जन सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने केंद्र व राज्य सरकार पर जबरदस्त हमला किया। उन्होंने कहा कि टिहरी डाम को केंद्र सरकार नीलाम करने का कैबिनेट में निर्णय कर रही थी और राज्य के मुख्यमंत्री कट पुतली की तरह उनके इशारे पर खामोश हो कर इस नीलामी को मोन स्वीकृति प्रदान कर रहे थे।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री इस निर्णय के दो दिन पहले इस बिकवाली के मामले में अन्विज्ञता जता रहे थे जिससे यह बात साबित हो जाती है कि या तो मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री मोदी ने विश्वास में नहीं लिया या मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे पर सहमति दे कर राज्य की जनता के साथ विश्वासघात किया। श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस इस लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाएगी। नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर इंदिरा हृदेश ने कहा कि टिहरी डाम के मुद्दे पर कांग्रेस सड़क की लड़ाई के साथ साथ सदन में भी लड़ाई लड़ने का काम करेगी। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षक श्री अनिल शर्मा ने कहा कि केंद्र की सरकार ने देश की आर्थिक रफ्तार पर नोटबन्दी व जीएसटी जैसे निर्णयों से ब्रेक लगा दी। उन्होंने कहा कि देश आज आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है और केंद्र सरकार लगातार सार्वजनिक उपक्रम बेच रही है । उन्होंने श्री प्रीतम सिंह को टेहरी डाम मामले में आंदोलन करने के लिए बधाई दी व कहा कि कांग्रेस के संघर्ष से 2022 में राज्य में बीजेपी को उखाड़ फैंक अपनी सरकार बनाएगी। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी श्री राजेश धर्माणी ने कहा कि राज्य में डबल इंजिन सरकार हर मोर्चे पर विफल हो गयी है और अब इस सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं है। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि पिछले पौने तीन साल में राज्य की त्रिवेंद्र सरकार अब तक कि सबसे निकम्मी सरकार साबित हुई है। उन्होंने कहा कि शिक्षा स्वास्थ्य कानून व्यवस्था से ले कर हर मोर्चे पर यह सरकार फिस्सडी साबित हुई है। उन्होंने कहा कि टिहरी की संसद को जनता को जवाब देना चाहिए कि टिहरी डाम की बिकवाली पर उनकी क्या भूमिका रही। धरने में पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी, पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी , पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण , मनीष खंडूरी,महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य, श्री जोत सिंह बिष्ट ,श्री सुमित भुल्लर,श्री याकूब सिद्दीकी, किशोर सिंह नेगी,सूरत सिंह नेगी, राकेश राणा, जगदंबा प्रसाद रतूड़ी, नगर पालिका परिषद टिहरी अध्यक्ष सीमा किरसाली, प्रभु लाल बहुगुणा,राजेन्द्र शाह , ताहिर अली,आर पी रतूड़ी,गरिमा दसोनि,नरेंद्र रमोला,सूरज राणा,साहब सिंह सजवाण,ललित भद्री,लाल चंद शर्मा,संजय किशोर,अशोक वर्मा,राजेश शर्मा,देवेंद्र बुटोला, मंजू तोमर,शांति रावत,महेश जोशी  आदि शामिल थे। कार्यक्रम का संचालन पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी ने किया।