देखे किसने ली राज्य रेलवे सुरक्षा व्यवस्था समिति की बैठक
 

श्री अनिल के0 रतूड़ी,  पुलिस महानिदेशक  उत्तराखण्ड की अध्यक्षता में आज  राज्य रेलवे सुरक्षा व्यवस्था समिति की एक उच्चस्तीरय बैठक आयोजित हुई, जिसमें श्री अशोक कुमार,  महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था उत्तराखण्ड, श्री वी0 विनय कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अभिसूचना/सुरक्षा, श्री ए0पी0 अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, श्री संजय गुंज्याल, पुलिस महानिरीक्षक, कुम्भ/पी/एम, श्री करन सिंह नगन्याल, पुलिस उपमहानिरीक्षक, सुरक्षा/ श्री सत्येन्द्र नारायण पाण्डेय, पुलिस महानिरीक्षक, उत्तर रेलवे, श्री निर्भय नारायण सिंह, ए0डी0आर0एम मुरादाबाद, श्री एस0के0 सैनी, पुलिस उपमहानिरीक्षक उत्तर पूर्वी रेलवे, श्री मंजूनाथ टी0सी, पुलिस अधीक्षक, जी0आर0पी, श्री दीपक सिंह, उपनिदेशक राजाजी टाइगर रिजर्व, सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।
बैठक में विभिन्न सुरक्षा व प्रशासनिक बिन्दुओं पर विचार विमर्श किया गया तथा निम्न महत्तवापूर्ण निर्णय लिये गयेः-

1- जी0आर0पी द्वारा रेलवे स्टेशन हरिद्वार एवं देहरादून के रेलवे परिसर/यात्री एवं उनके सामान की सुरक्षा, आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम एवं आगामी कुम्भ मेला 2021 के दृष्टिगत अत्याधुनिक सीसीटीवी कैमरे स्थापित किये जाने के प्रस्ताव पर आरपीएफ एवं रेलवे द्वारा आश्वासन दिया गया।
 
2- ट्रेनों पर पत्थरबाजी करने वाले अराजक तत्वों के विरुद्ध आवश्यक कठोर वैधानिक कार्यवाही की जाये।

3- अपराध नियंत्रण हेतु जीआरपी व आरपीएफ समन्वय स्थापित कर आपस में पेशेवर अपराधियों एवं महत्वपूर्ण सूचनाओं का अदान-प्रदान करे।
  
4- कुम्भ मेला-2021 के दृष्टिगत हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर भीड़ एवं यातायात प्रबन्धन के लिए कार्य योजना तैयार करने हेतु भी निर्देशित किया गया।
      
5- रेलवे स्टेशनों/ रेलवे ट्रेकों की सुरक्षा हेतु आरपीएफ, जीआरपी एवं स्थानीय पुलिस द्वारा रेलवे स्टेशनों में सयुंक्त रूप से प्रभावी चैकिंग के साथ-साथ पैदल व पुश ट्रॉली द्वारा रेलवे ट्रेकों का भी निरीक्षण किया जाये। साथ ही निकटस्थ गांवों के चौकीदारों/ग्राम सुरक्षा समिति के साथ गोष्ठी आयोजित की जाये।
 
6- कोई भी घटना घटित होने पर तत्काल उसका पंजीकरण कर पीड़ित को राहत दी जाये। घटनास्थल के आधार पर पंजीकरण करने में कोताई न बरती जाये। रेलवे प्लेटफार्म व ट्रेनों में महिला यात्रियों एवं बच्चों की सुरक्षा हेतु विशेष ध्यान दिया जाये।

7- जीआरपी एवं आरपीएफ दोनों ही बल अपने अधीनस्थों को दुर्घटना में घायलों की सहयता करने हेतु संवेदनशील करे।

8- जीआरपी लाईन एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय न्यू स्टेशन ऋषिकेश के आस पास बनाने हेतु रेलवे से अनुरोध किया गया।