एनकाउंटर में कार्बाइन से लैस डेढ़ लाख का इनामी बदमाश ढेर, सिपाही को भी लगी गोली

. गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर रात आठ बजे के करीब पुलिस के वायरलैस पर एक संदेश गूंजा,‘दो बदमाश बागपत रोड पर स्कूटी और नकदी लूटकर भाग रहे हैं’। यह संदेश सुनते ही एसएसपी अजय साहनी पुलिस फोर्स के साथ खुद बदमाशों की तलाश में निकल पड़े। पुलिस ने रात करीब एक बजे डीपीएस स्कूल के पास बदमाशों की घेराबंदी कर ली। चारों ओर से खुद को घिरा देख बदमाशों ने पुलिस के ऊपर फायरिंग करनी शुरू कर दी। पुलिस की ओर से भी फायरिंग शुरू हो गई, जिसमें एक युवक ढेर हो गया। जबकि एक भागने में सफल रहा। इस एनकाउंटर में मारे गए बदमाश की पहचान कुख्यात चांद के रूप में हुई। बदमाश के कब्जे से एक कार्बाइन और 12 बोर की बंदूक बरामद हुई है।
बताया जा रहा है कि दो बदमाश शिवपुरम निवासी मोनू और चंद्रवीर से लूटपाट कर भाग रहे थे। विरोध करने पर बदमाशों ने दोनों को घायल कर दिया था। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस अलर्ट मोड पर आ गई। इसके बाद डीपीएस के पास बदमाशों को पुलिस ने घेर लिया। अपने आपको घिरता देख बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग करनी शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस ने भी फायरिंग की, जिसमें कुख्यात बदमाश चांद मारा गया। मृतक बदमाश थाना परीक्षितगढ़ अंबेडकर कालोनी निवासी चांद उर्फ काले है। बताया जा रहा है कि चांद का पूरे जोन में खौफ था। वह डकैती डालने में माहिर माना जाता था। उसके खिलाफ लूट, हत्या और डकैती के तीन दर्जन से अधिक मुकदमे विभिन्न थानों में दर्ज थे। चांद के ऊपर डीआईजी सहारनपुर की ओर से 50 हजार और एडीजी जोन की तरफ से 1 लाख का इनाम घोषित था। पिछले एक सप्ताह से चांद गैग ने पूरे जोन में आतंक मचाया हुआ था।
बता दें कि पुलिस चांद के 6 साथियों को पहले ही जेल भेज चुकी है। मुठभेड़ में एक सिपाही मनोज दीक्षित को भी गोली लगी है, जिसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतक बदमाश का जो साथी फरार है पुलिस उसकी पहचान कर रही है। उसकी तलाश में भी पुलिस छापेमारी कर रही है। एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि बीती रात करीब 1 बजे यह मुठभेड़ हुई है, जिसमें चांद नामक अपराधी की गोली लगने से मौत हो गई है। जबकि उसका एक साथी फरार हो गया है। उसकी तलाश की जा रही है।