ग्राम पंचायतों के खाते में सीधे पहुंचेगा विकास कार्यों का धन

वित्त आयोगों से ग्राम पंचायतों को विकास कार्यों के लिए मिलने वाली धनराशि अब सीधे उनके खाते में जाएगी। इसके लिए जिले स्तर पर ग्राम पंचायतों के खातों को लोक वित्त प्रबंधन व्यवस्था (पीएफएमएस) सर्वर से 15 दिन के अंदर जोड़ा जाएगा। 


राज्य वित्त आयोग व 14वें वित्त आयोग के तहत ग्राम पंचायतों को विकास कार्यों के लिए धनराशि प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा दी जाती है। यह पैसा ग्राम पंचायतों को सीधे न मिल कर जिले के माध्यम से मिलता है। ऐसे में धनराशि ग्राम पंचायतों के पास पहुंचने में काफी समय लग जाता है।

जिससे विकास कार्य प्रभावित होते है। इसी के चलते पंचायतीराज निदेशालय ने ग्राम पंचायतों को सीधे पीएफएमएस से जोड़ने की तैयारी कर ली है। इसके बाद विकास कार्यों के लिए मिलने वाली धनराशि सीधे ग्राम पंचायतों के खातों में भेजी जाएगी।