रौशनी ज़रूरी नहीं कि सिर्फ चिरागो से हो, बेटियां भी घर में उजाला करती है

 


 रौशनी ज़रूरी नहीं कि सिर्फ चिरागो से हो, बेटियां भी घर में उजाला करती है। जी हां बेटियां माँ बाप के सबसे करीब होती है और इसीलिए बेटियों को घर की रौनक भी कहा जाता है। अब वो ज़माने गए जब हर माँ बाप बेटे की इच्छा रखते थे। आजकल लोगों को एहसास हो गया है कि अगर बेटे ज़रूरी है तो बेटियां भी उतनी ही ज़रूरी है। आपको शायद पता होगा कि आजकल बेटो से ज़्यादा बेटियां अपने माँ बाप का नाम रोशन करती है और इसलिए बेटियों को कभी किसी से कम नहीं आँका जाता। इसी कड़ी में रुड़की की नन्ही 8 साल की बिटियां ने अपने माता पिता का ही नही बल्कि पूरे शहर का नाम रोशन किया है। इस नन्ही बिटियां ने इंडिया टैलेन्ट कार्यक्रम में देशभर के प्रतिभागियों को पछाड़ते हुए मॉडलिंग कॉम्पिटिशन में प्रथम स्थान प्राप्त किया। कॉम्पिटिशन फतेह करने के बाद इस नन्ही बच्ची को कई बड़ी मैगज़ीन से ऑफर आने शुरू हो गए है। 

आपको बता दे कि रुड़की के लालकुर्ती क्षेत्र निवासी अमित खंडेलवाल की 8 वर्षीय बिटियां अद्विका खंडेलवाल ने इंडिया टैलेन्ट कार्यक्रम में मॉडलिंग कॉम्पिटिशन में प्रतिभाग किया इस कॉम्पिटिशन में देशभर से करीब सवा लाख बच्चो ने भाग लिया था, मॉडलिंग कॉम्पिटिशन में इस नन्ही से बच्ची ने प्रथम स्थान हासिल करते तमाम प्रतिभागियों को पछाड़ा है। आज विनर बलिया के माता पिता और ट्रेनर ने बच्ची के साथ रुड़की के एक होटल में प्रेस कांफ्रेस कर जानकारी दी। बच्ची के पिता अमित खंडेलवाल ने बताया आज के दौर में बेटियां बेटों से कम नही है। बेटियां देश का नाम रोशन कर रही है। उन्होंने बिटिया की इस जीत पर खुशी जाहिर करते हुए बताया कि बिटियां को वह इस फील्ड में और ऊंचाइयों पर देखना चाहते है। वही बच्ची को ट्रेंड करने वाले ट्रेनर शिखर सैनी ने बताया की इस नन्ही बच्ची की प्रतिभा देशभर के सामने आई है, बच्ची के अंदर टैलेंट है जिसे इंडिया टैलेन्ट शो के जरिये देश के सामने रखा गया।