रिश्वत लेता जे ई रंगेहाथ गिरफ्तार

 शिकायतकर्ता देहरादून निवासी द्वारा दिनांक 15.01.2020 को एक शिकायती प्रार्थना पत्र पुलिस अधीक्षक, सतर्कता सैक्टर देहरादून को इस आशय का दिया कि अपने घर पर स्थायी विद्युत कनेक्शन एवं विद्युत पोल लगवाने के सम्बन्ध में विघुत वितरण उपखण्ड सेलाकुई में आवेदन किया गया था जिसमें विद्युत वितरण उपखण्ड सेलाकुई के जेई श्री मुनीश कुमार द्वारा विद्युत कनेक्शन एवं विद्युत पोल लगाये जाने हेतु 85000/-रू0 की मांग की गयी शिकायतकर्ता द्वारा अनुरोध किया कि उक्त धनराशि अधिक है, इसे कम कर लो, जिस पर जेई श्री मुनीश कुमार द्वारा 75000/- रू0 में कार्य करने की बात की व पैसे देने पर ही कार्य होने की बात कही। इसके उपरान्त शिकायतकर्ता पुलिस अधीक्षक सतर्कता सैक्टर के कार्यालय में अपनी शिकायत लेकर पहुॅचा जिसमें शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया कि वह रिश्वत नहीं देना चाहता था, मजबूरी में रिश्वत देने को तैयार हुआ और अपने प्रार्थना पत्र पर आवश्यक कानूनी कार्यवाही चाहता है।  
            पुलिस अधीक्षक, सतर्कता सैक्टर देहरादून द्वारा शिकायतकर्ता केे शिकायती प्रार्थना पत्र की गोपनीय जांच एंव गहन अभिसूचना संकलन से आरोप सही पाते हुये नियमानुसार ट्रैप संचालन हेतु ट्रैप टीम का गठन किया गया।
             आज दिनांक 17.01.2020 को आरोपी जेई श्री मुनीश कुमार विद्युत वितरण उपखण्ड सेलाकुई देहरादून से सतर्कता सैक्टर देहरादून की ट्रैप टीम द्वारा आज सरकारी स्वतन्त्र गवाहान के समक्ष शिकायतकर्ता से राजकीय कार्य करने के एवंज में रू0 75000/- उत्कोच ग्रहण करते हुये विद्युत वितरण उपखण्ड सेलाकुई कार्यालय से रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। आरोपी के विरूद्व थाना सतर्कता सैक्टर देहरादून पर धारा-7(ए)भ्र0नि0अधि01988 यथा संशोधित 2018 के अन्तर्गत अपराध पंजीकृत कराकर विवेचना की जायेगी।
  भ्रष्टाचार के विरूद्व जन-जागरूकता व जनता में सतर्कता अत्यन्त आवश्यक है किसी भी लोक सेवक द्वारा उत्कोच की मांग करने पर सतर्कता अधिष्ठान के टोल फ्री न0 18001806666, एवं फेस बुक पेज तथा व्हटसएप न0 9456592300 पर सूचित करें। उत्कोच लेना-देना दोनो अपराध है।