घोटले मामले में प्रबन्धक निलंबित
-लकसर के निरंजनपुर गाँव  पीएनबी में हुए करोड़ो के घोटाले के मामले कार्रवाई का हंटर चलना शुरू हो गया है --विभाग ने प्रथम जाँच पड़ताल के बाद बैंक प्रबंधक सजंय कुणाल ओर चपरासी रोहित गिरी को निलंबित कर दिया गया है--

 आपको बता दे कि निरंजनपुर  पंजाब नेशनल बैंक की शाखा के एक दर्जन से अधिक ग्राहकों के खाते से लगभग करीब एक करोड़ रुपए की धनराशि को दूसरे खाते में ट्रांसफर कर निकाल लिए जाने का मामला सामने आया था--बैंक अधिकारियों के मुताबिक ग्राहकों के खाते से बैंक के ही एक चतुर्थ कर्मचारी द्वारा अपने रिश्तेदार के साथ-साथ कुछ दूसरे परिचितों के खाते में ऑनलाइन रकम ट्रांसफर की गई थी तथा उसके बाद उसको निकाला गया था इस मामले में बैंक के तीन ग्राहक जो गबन का शिकार हुए थे। उन्होंने कोतवाली पुलिस को इस बाबत घटना की तहरीर दी थी।इस मामले में पुलिस के साथ-साथ सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक नरेश कुमार सिंघल के नेतृत्व में एक जांच टीम गठित की गई थी।अब इस मामले में जांच टीम द्वारा अपनी जांच करने के बाद रिपोर्ट क्षेत्रीय कार्यालय को दे दी गई है-- अधिकारियों के मुताबिक उनके द्वारा दी गई रिपोर्ट में पता चला है कि इस मामले में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रोहित गिरी निवासी रहमतपुर बेलडा थाना पिरान कलियर रुड़की ने बैंक में तैनात दो कर्मचारियों की यूजर आईडी व पासवर्ड को चोरी किया था तथा इसके बाद कर्मचारी द्वारा ग्राहकों की रकम को दूसरे अन्य खातों में ट्रांसफर की गई थी। इतना ही नहीं बैंक अधिकारियों ने ग्राहकों के खातों से ट्रांसफर की गई लगभग दस लाख रुपये की रकम को सीज भी कर दिया था।क्षेत्रीय प्रबंधक नरेंद्र कुमार ने बताया कि इस मामले में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रोहित कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है।वह तभी से फरार चल रहा है इतना ही नहीं उन्होंने बताया कि इस मामले में शाखा के प्रबंधक संजय कुणाल मेहता को भी इस घटना का जिम्मेदार माना गया है। इसलिए उनके खिलाफ भी निलंबन करने की कार्रवाई कर दी गई है।