प्रेमिका को मरा समझाकर बोरे में भर फेंका रेलवे ट्रैक पर, मौत


प्रयागराज। नगर के धूमनगंज थाना क्षेत्र के रेल गांव के समीप रेलवे ट्रैक पर बुधवार सुबह एक युवती का शव बोरे में पाया गया। खबर मिलते ही परिवार के लोग मौके पर पहुंचे और हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। पुलिस ने एक युवक को हिराशत में लेकर पूंछताछ कर रही है। 
  धूमनगंज के पीपल गांव निवासी नरेंद्र पाल मूलरूप से कौशााम्बी के निवासी है। सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद, शहर के पीपल गांव में अपना घर बनवाकर तीन बेटी एक बेटे एवं पत्नी निर्मला देवी के साथ रहते है। हालांकि वर्तमान में नरेन्द्र पाल दिल्ली में नौकरी करता है। उसकी सबसे बड़ी बेटी हेमा पाल 24 वर्ष पढ़ाई के साथ अपने खर्च के लिए सिविल लाइंस स्थित मैग्डोनाल्ड में कुछ दिनों से नौकरी कर रही थी। हालांकि परिवार के लोगों ने उसकी शादी भदोही में तैय कर दी थी और मई में शादी होती। 
  बताया जा रहा है कि मंगलवार की सुबह हेमा पाल घर से सिविल लाइंस स्थित मैग्डोनाल्ड के लिए निकली और साथ में मोबाइल एवं एटीएम लिए हुए थी। मंगलवार की देरशाम वह जब वापस घर नहीं पहुंची तो परिवार के लोग उसे खोजने लगे। बुधवार की सुबह रेलगांव के समीप रेलवे ट्रैक पर युवती का शव बोरे में ट्रेन से कटा हुआ पाया गया। शव मिलने की जानकारी होते ही उसके परिवार के लोग भी वहां पहुंचे। जहां उसकी पहचान किया और हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी।
  पुलिस ने परिजनों के मुताबिक युवक को हिरासत में लेकर कर्रा किया तो उसने कबूला की मृतका का गला दबाकर मारा था। मैने उसे मरा समझकर बोरे में भरकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। जब कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के अनुसार युवती को बोरे में भरकर फेका गया था तब वह जिन्दा थी। बाद में ट्रेन से कटकर उसकी मौत हो गयी।
  पुलिस ने मृतका का मोबाइल और एटीएम भी बरामद किया है। क्षेत्राधिकारी सिविल लाइंस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इन्तजार हो रहा है।  मृतका के भाई ने बताया कि उसकी बहन की हत्या की गई है। पड़ोस के ही रहने वाले युवक ने पहले उसका गला दबाया और उसे बोरे में भरकर ट्रैक  पर फेक दिया। उसकी बहन का मोबाइल एवं एटीएम गायब था जो अब मिल गया है। मेरी बहन का मोबाइल रात से बन्द हो गया। इससे पहले कभी उसका मोबाइल बन्द नहीं होता था।