सरकार के ग्रामीणो से सरोकार बंद
प्रदेश  की  डबल  इंजन  की  सरकार  अपना  तीन  साल  का  कार्य काल  पूरा  कर  चुकी  है,  लेकिन  इन  तीन  सालो  मे  प्रदेश  के  पहाडी  जनपद  बागेशवर  के  कपकोट  तहसील  के  गाँवो  मे  सड़क  पहुँचना  एक  सपना  मात्र  ही  दिख  रहा  है,  ग्रामीण  लगातार   जिलाधिकारी  बागेशवर  के  दरबाजे  पर गाँव  तक   सडक  पहुँचाने  की  फरियाद  को  लेकर  आते  है,  ओर  हतास  होकर  घर  को  लौट  जाते  है,  कपकोट  तहसील  के  ग्रामीण  इलाको  के  हालात  काफी  नाजुक  बने  हुये  है,  गाँव  से  बिमार  मरीजो  को  डोली  के  माध्यम  से  सड़क  तक  लाने  वाला  भी  कोई  नही  है,  जिलाधिकारी  बागेशवर  के  आशवसनो  से  ग्रामीणो का  मोह  भंग  होता  जा  रहा  है,  

ग्रामीणो का  कहना  है,  कि  

गापानी,  कमेटपानी,  सड़क  के  लिये  है,  पिछले  10 सालो  से  संघर्ष  कर  रहे  है,  जिला  अधिकारी  , ओर  पीडबलू डी  विभाग  के  कितने  चक्कर  लगा  चुके  है,  हर  बार  कोई न  कोई  बहाना  बता  कर  , कुछ  न  कुछ  आपत्ति  लगा  कर  केवल  ग्रामीणो को  टरकाने  का  काम  किया  जा  रहा  है,  ग्रामीण  लोगो  को  तक़दीर  के  भरोसे  मरने  के  लिये  छोड़  दिया  गया  है,