*उत्तराखण्ड पुलिस की कार्यप्रणाली से रूबरू होने आए कर्नाटक पुलिस के दल से डीजीपी ने की मुलाकात


*एक भारत, श्रेष्ठ भारत की पहल के तहत उत्तराखण्ड आए कर्नाटक पुलिस के दल से आज श्री अनिल के0 रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड ने पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में भेंट कर दल का परिचय प्राप्त किया। कर्नाटक पुलिस का दल उत्तराखण्ड पुलिस की कार्यप्रणाली से रूबरू होने के लिए 25 जनवरी को देहरादून पहुंच था। यह दल दिनांक 09 फरवरी तक देहरादून और हरिद्वार में प्रदेश की पुलिसिंग, अपराधों के ट्रेंड के अलावा विवेचनाओं और शिकायतों के निस्तारण पर अध्ययन करेगा।*


*श्री अशोक कुमार, महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड ने बताया कि गृह मंत्रालय, भारत सरकार ने देश की भाषा, सांस्कृतिक, धार्मिक विविधता में एकता बनाने के उद्देश्य से एक भारत और श्रेष्ठ भारत की पहल शुरू की गई है। जिसके अन्तर्गत एक राज्य की पुलिस दूसरे राज्यों में जाकर वहां की पुलिसिंग का अध्ययन करेंगी। इससे एक दूसरे का भाषा समझने में मदद मिलेगी और अपराधों के ट्रेंड के अलावा विवेचनाओं और शिकायतों के निस्तारण में भी ज्ञान मिलेगा। इसी कड़ी में कर्नाटक पुलिस का 15 सदस्यीय दल (01 निरीक्षक, 01 उपनिरीक्षक, 03 मुख्य आरक्षी, 10 आरक्षी) उत्तराखंड पुलिस की कार्यप्रणाली देखने यहां आया है। उत्तराखंड पुलिस का 15 सदस्यीय दल विगत माह 20 जनवरी को कर्नाटक गया है।*


*कर्नाटक पुलिस के दल द्वारा DGP Sir को अपने फीडबैक में बताया कि उत्तराखण्ड पुलिस के जवान जनता के साथ काफी विनम्रता से पेश आते हैं। यहां की पुलिसिंग काफी पब्लिक फ्रेन्डली है। कर्नाटक के मौसम के लिहाज से यहां के जवान का काफी कठिन परिस्थितियों में अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं। यहां के पुलिस थानों में रिर्पोटिंग चैकी का होना एक अच्छी प्रणाली है।*


*कर्नाटक पुलिस दल को उत्तराखण्ड पुलिस की सिटी पेट्रोल यूनिट, राहत एवं बचाव कार्य में पारंगत एसडीआरएफ के कार्यों के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी। इसके साथ ही पुलिस मुख्यालय में स्थापित एससीआरबी, सीसीटीएनएस, अपराध शाखा सहित अन्य अनुभागों के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए उनका भ्रमण कराया गया।*