तीन सदस्य समिति का गठन कर एक माह में जांच आख्या उपलब्ध करने के दिये आदेश

जिला अधिकारी ने दो माह पूर्व दानपात्र से धनराशि चोरी करने के प्रकरण की विस्तृत जांच के लिये ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की की अध्यक्षता में तीन सदस्य समिति का गठन कर एक माह में जांच आख्या उपलब्ध करने के दिये आदेश,,,।
रुड़की/कलियर

दरगाह पिरान कलियर कार्यालय में नियम विरुद्ध रखे गये दानपात्रों से दो कर्मचारियो द्वारा सील तोड़कर लाखो की धनराशि चोरी करने के प्रकरण की विस्तृत जांच कराने के लिये मुख्य कार्यपालक अधिकारी/अपर सचिव डॉ अहमद इकबाल ने 18 जनवरी 2020 को एक पत्र जिला अधिकारी हरिद्वार को भेजकर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की की अध्यक्षता में टीम गठित कर जांच कराकर जांच उपलब्ध कराने का आग्रह किया गया था।पत्र के माध्यम से जिला अधिकारी ने 7 फरवरी 2020 को जारी पत्र से ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल की अध्यक्षता में दो अन्य सदस्य कोषाधिकारी व सेवा निवर्त/प्रशासनिक अधिकारी फुरकान अली को  टीम में रखकर जांच एक माह में उपलब्ध कराने के आदेश टीम को दीये है,ताकि जांच आख्या मुख्य कार्यपालक अधिकारी उत्तराखण्ड वक्फ बोर्ड को भेजी जा सके।लेकिन 7 फरवरी 2020 से  एक माह जांच समिति के गठन को होने के बावजूद अभी तक जांच समिति ने कार्यभार ग्रहण नही किया ओर ना ही जांच शुरू की जा सकी है।जिससे प्रकरण की जांच अभी तक अधूरी ही लटकी हुई है।अब देखना यह होगा कि उक्त प्रकरण की निष्पक्ष जांच कब तक हो पायेगी,जबकि दो माह बीत जाने के बावजूद अभी तक जांच में कोई प्रगति होती प्रतीत नही हो रही है।