सिटी बस संचालकों के सामने भी रोजी-रोटी का संकट

लॉकडाउन के चलते सिटी बस संचालकों के सामने भी रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो चुका है जिसको देखते हुए सरकार ने 3 महीने का टैक्स माफ करने की बात कही है वहीं सिटी बस के अध्यक्ष विजय वर्धन डंडरियाल ने कहा कि 3 महीने से हमारी कोई भी बस नहीं चली है तो उसका टैक्स लेने की तो कोई बात बनती नहीं है सरकार ने 3 महीने का टैक्स जरूर माफ किया है जब सरकार द्वारा बार-बार सोशल डिस्टेंसिंग की बात की जा रही है और अभी जो वाहन खड़े हुए हैं और जो वहान चल रहे हैं हमारी एक ही मांग है सरकार से की वहानो को आपने यात्री की संख्या निर्धारित की है उसी हिसाब से उस गाड़ी का इंश्योरेंस करें और उसी हिसाब से उनका टैक्स ले कहीं ना कहीं जो छोटे कमर्शियल वाहन स्वामी है उनको इससे काफी फायदा मिलेगा साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने एक ही मांग की है कि परिवहन विभाग यात्रियों के हिसाब से टैक्स ले और इंश्योरेंस भी यात्रा के हिसाब से लिया जाए