गढ़ी कैंट में बिछेगी 21 किमी लम्बी बंच केबल, सुवाखोली में बनेगा बिजलीघर

मसूरी विधायक गणेश जोशी ने अपने आवास पर विद्युत विभाग के अधिकारियों संग बैठक कर समस्याओं के त्वरित निदान के निर्देश दिये। उन्होनें अधिकारियों को बैठक में हुई वार्ता एवं सहमति के आधार पर त्वरित कार्यवाही करने को कहा। 
बैठक में तय हुआ कि गढ़ी कैंट क्षेत्र में अतिशीघ्र 21 किमी बंच केबलिंग का कार्य करवाया जाऐगा। सुवाखोली में बिजलीघर के निर्माण के लिए भूमि आवंटन हेतु शासन से वार्ता की जाऐगी, जिसके बाद विभाग द्वारा तत्काल कार्य प्रारम्भ किया जाऐगा। क्षेत्र में सड़े-गले खम्बों को तत्काल बदलने के लिए पार्षदों के साथ समन्वय बनाकर एसडीओ कार्य करेगें। दून विहार में बंच केबल, बापूनगर में 15 खम्बों की शिफ्टिंग, विजय कालोनी में मिनी ट्रांसफार्मर लगाने पथरिया पीर पुल से ट्रांसफार्मर स्थानान्तरित करने, कैनाल रोड़ के बाडीगार्ड में शाॅट सर्किट रोकने के लिए सुरक्षात्मक उपाय करने, तारों से टकराने वाले पेड़ों की टहनियों को लोपिंग करने, आर्यनगर में खम्बे बदलने, धोरखखास के चिड़ोवाली में बंच केबल, मंदाकिनी विहार, मयूर विहार, ब्रहमावालाखाला आदि स्थानों में बंच केबल, गजियावाला में खम्बे लगाने तथा विलासपुर काड़ली में गले हुए खम्बों को बदलने के सम्बन्ध में सहमति बनी। 
      पिछले वर्ष करंट लगने से एक मवेशी की मौत हो गयी थी, जिसका मुआवजा अभी तक पीड़ित परिवार को नहीं मिला है। विधायक जोशी ने मुख्य अभियंता को निर्देशित किया कि तत्काल मुआवजा प्रदान किया जाए। साथ ही, कोरोना के बाद मीटर रीड़िंग के लिए आए हुए कार्मिकों द्वारा बापूनगर क्षेत्र में बहुत अधिक धनराशि के बिल दे गये गये, स्थानीय पार्षद की समस्या पर विधायक जोशी ने ईई को बिल सुधार में कार्यवाही करने को कहा। 
     बैठक में स्ट्रीट लाइटों की रखरखाव पर भी वार्ता हुई। पार्षदों ने बताया कि यदि एक बार स्ट्रीट लाइट या टाइमर खराब हो जाए तो नगर निगम कहता है कि विद्युत विभाग करेगा और विद्युत विभाग कहता है कि नगर निगम करेगा। किन्तु टाइमर अथवा स्ट्रीट लाईटें नहीं सुधर पाती है। पार्षदों ने बताया कि उनके द्वारा कई स्थानों पर स्वयं टाईमर या एमसीबी खरीदकर लगायी जा चुकी है। पार्षदों की समस्या को गम्भीरता से लेते हुए विधायक जोशी ने नगर आयुक्त एवं मुख्य अभियंता से वार्ता की। यह स्पष्ट हुआ कि वर्ष 2004-05 में नगर निगम एवं विद्युत विभाग का एक एमओयू हुआ था, जिसमें निगम द्वारा विभाग को धनराशि दी गयी थी। किन्तु अब दुबारा से निगम द्वारा विद्युत विभाग को धनराशि दिये जाने के बाद ही स्ट्रीट लाइट या टाइमर का कार्य विद्युत विभाग द्वारा किया जाऐगा। इस सम्बन्ध में नगर निगम एवं विद्युत को कार्यवाही करने को कहा।
    इस अवसर पर विद्युत विभाग के मुख्य अभियंता रजनीश अग्रवाल, अधीक्षण अभियंता शैलेन्द्र सिंह, ईई मुनीष चन्द्रा, ईई प्रशांत बहुगुणा, एसडीओ जितेन्द्रु जोशी, छावनी परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष विष्णु गुप्ता, पार्षद संजय नौटियाल, पार्षद कमल थापा, पार्षद चुन्नीलाल एवं पार्षद सत्येन्द्र नाथ उपस्थित रहे।