उत्तराखंड में आत्म हत्या के मामले बढ़े

 पूरे देश में पिछले 4 महीने से कोरोना महामारी के चलते लोगों में डिप्रेशन के शिकार होते नजर आ रहे हैं पिछले 4 महीनों की बात करें तो पिछले 4 महीनों में लॉकडाउन के दौरान डिप्रेशन के कारण उत्तराखंड में आत्महत्या के मामले लगातार बढ़ रहे हैं वही महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि चार महीनो  में 187 मामले आत्म हत्या के सामने आये है  लेकिन लॉक डाउन तो सिर्फ सवा महीना ही हुआ है अप्रेल तक पिछले वर्षों की बात करे तो  यह एवरेज 4 महीनों में डेढ़ सौ तक होता था हो सकता है कि जिस तरीके से लॉक डाउन  हुआ है कहीं ना कहीं लोग डिप्रेशन में आए हैं और इस कारण यह डाटा बड़ा है लेकिन पूरे समाज को इस पर चिंतन मंथन करने की आवश्यकता है कि किस तरीके से ऐसे समय में कैसे हम व्यक्तियों की ऊर्जा को पॉजिटिव चीजों में लगाएं क्योंकि जो व्यक्ति घर पर खाली होता है तो उसकी सोच नेगेटिव होने लगती है जिसके कारण ऐसे मामले सामने आते हैं