गोली मारने वाले अभियुक्त गिरफ्तार

थाना प्रेमनगर क्षेत्रान्तर्गत धूलकोट के जंगल में 02 अज्ञात बाइक सवारों द्वारा अन्य बाइक सवार शंकर सिंह व सत्य सिंह पर गोली चलायी गयी थी, जो शंकर सिंह के लगी। घटना के बाद गोली चलाने वाले बाईक सवार मौके से भाग गये थे चूंकि घायल व उसका साथी बरोटीवाला थाना विकासनगर क्षेत्र से चले थे तो सम्भावना व्यक्त की गयी कि उनका पीछा करने वाले लोगो द्वारा भी बरोटीवाला से उनका पीछा किया गया होगा।  उक्त संबंध में थाना विकासनगर, सहसपुर, व कालसी के थाना प्रभारियों द्वारा गहनता से छानबीन की गयी तथा सीसीटीवी कैमरों का भी गहनता से अवलोकन किया गया । इसी क्रम में दिनाँक 04/08/2020 को SHO विकासनगर व उनकी टीम को सूचना मिली कि पृथ्वीपुर गाँव के रहने वाले 04 संदिग्ध बरोटीवाला की तरफ रैकी करते हुए दिखायी दिये थे । जानकारी करने पर इस बात की तस्दीक हुयी कि घटना के समय चारों युवकों का मूवमेन्ट व लोकेशन देहरादून रोड़ पर ही था जिस पर पुलिस टीम द्वारा चारों युवकों सौरभ, निकू, कपिल, तथा विपिन को पूछताछ हेतु थाने लाया गया । थाने पर चारों युवकों से धूलकोट में हुयी घटना के सम्बन्ध में सख्ती से पूछताछ की गयी तो चारों नें उक्त घटना को किया जाना स्वीकार किया, साथ ही चारों अभियुक्तों द्वारा दिनाँक 31/07/2020  की रात्रि को डाकपत्थर तिराहे पर स्थित परचून की दुकान में चोरी की घटना को भी अन्जाम दिया जाना स्वीकार किया । अभियुक्त सौरभ की निशानदेही पर उसके पृथ्वीपुर स्थित घर के पीछे से पेड़ के नीचे से धूलकोट की घटना में प्रयुक्त तमंचा तथा अभियुक्तगणों से बेलावाला के जंगल में चोरी किया गया सामान बरामद हुआ । 


 


 पूछताछ में अभियुक्त सौरभ द्वारा बताया गया कि डाकपत्थर तिराहे पर स्थित कोहली प्रोविजन स्टोर में कार्य करता था, घटना में शामिल अन्य अभियुक्त निक्कू, कपिल तथा विपिन उसके रिश्तेदार हैं तथा दिहाड़ी मजदूरी का कार्य करते हैं , अभियुक्त द्वारा बताया गया कि मैं शराब पीने का आदी हूं तथा अक्सर अपने घर के नजदीक बरोटीवाला स्थित शराब के ठेके में शराब लेने जाया करता था, मुझे पता था कि शराब के ठेके में कार्य करने वाले उक्त सैल्समैन दिन भर की कमाई को एकत्रित कर रात्रि में देहरादून जाते है । चूंकि दुकान में काम करने पर भी मुझे अपना शौक पूरा करने के लिए पर्याप्त धनराशि नही मिल पाती थी, इसलिए मैने जल्द पैसा कमाने के लालच में शराब ठेके के उक्त सैल्समेन को लूटने की योजना बनाई तथा अपने अन्य साथियों निक्कू, कपिल तथा विपिन को भी अपनी योजना के बारे में बताते हुए उन्हें अपनी इस योजना में शामिल कर लिया । लूट की घटना को अन्जाम देने के लिए मैं गंगोह, सहारनपुर से एक तमंचा खरीदकर लाया । योजना के मुताबिक पहले हम चारों के द्वारा एक से डेढ हफ्ते तक उक्त ठेके के सैल्समेनों के आने-जाने के रुट व समय की रैकी की गयी । दिनांक 01/08/2020 की रात्रि को घटना को अन्जाम देने के लिए हम चारों बरोटीवाला तिराहे पर मिले शराब ठेके को बन्द करने के पश्चात जब उक्त दोनों सैल्समेन अपनी मो0सा0 से देहरादून की ओर निकले तो हम भी दो अलग-अलग मोटर साईकिलों से उनके पीछे चल दिये । मैं तथा कपिल सीटी 100 मोटर साईकिल तथा विपिन और निक्कू सुपर स्पलैण्डर मो0सा0 पर सवार थे । पहले हमारे द्वारा  लांघा रोड़ पर घटना को अंजाम देना के प्रयास किया परन्तु उक्त रोड़ पर लोगों की आवाजाही अधिक होने से हम घटना को अंजाम नही दे पाये इसके पश्चात हमारे द्वारा धूलकोट के जंगलों में पहुँचकर उन्हें रोकने का प्रयास किया गया परन्तु जब वह नही रुके तो मेरे द्वारा उन पर फायर कर दिया गया । हमे लगा कि हमारा फायर मिस हो गया तो हम सभी काफी घबरा गये थे तथा सुद्धोवाला से मांडोवाला होते हुए जंगल के पीछे वाले रास्ते से भाऊवाला, छरबा रोड़ होते हुए सीधे पृथ्वीपुर पहुँचे तथा उसके पश्चात अपने अपने घरों को चले गये । इससे पूर्व मेरे द्वारा अपने इन्हीं साथियों के साथ मिलकर दिनाँक 31/07/2020 की रात्रि डाकपत्थर तिराहे पर स्थित परचून की दुकान जिसमे मैं कार्य करता था में चोरी की घटना को अंजाम दिया गया था ।