दो अपरहण कर्ता हुए गिरफ्तार तो दो अभी भी फरार पुलिस जुटी जांच में
राजधानी दून में क्राइम रुकने का नाम नही ले रहा है हालांकि देहरादून की पुलिस इतनी सतर्क नजर आ रही है कि क्राइम होने से पहले ही अपराधियो को पकड़ कर जेल का रास्ता दिखा देती है ये एक एसएसपी अरुण मोहन जोशी का करिश्मा कहा जाए या फिर कुछ और जहा एक ओर एसएसपी देहरादून ने नशे के सौदागरों पर नकेल कसने के काम किया है तो अब कोई भी अपराधी हो वो बच नही पायेगा इस ही एक मामला देर शाम सामने आया कि देर शाम बिंदाल चौकी  पर सूचना दी गई की सहारनपुर से खलील नाम का एक व्यक्ति दो व्यक्तियों गुलशेर व तौसीफ को लेकर देहरादून आया था, खलील द्वारा दोनों व्यक्तियों को झांसा दिया गया था की देहरादून में  एक मोटी पार्टी है, जिसको ठगा जा सकता है तथा उनसे जमीन का सौदा सस्ते में  हो जाएगा,  परंतु खलील द्वारा दोनों के साथ धोखाधड़ी कर उनको नवाब व सचिन नाम के व्यक्ति से मिलवाया, जिन्होंने उसका अपहरण कर लिया। वादी द्वारा बताया गया की अपहरणकर्ताओं द्वारा वादी के दोस्त गुलशेर व तौसीफ को  देहरादून में कहीं बंधक बनाया गया है और अपहरणकर्ताओं द्वारा गुलशेर के फोन से वादी को फोन कर 2500000/- रुपए की फिरौती मांगी गई है।   वादी द्वारा बातचीत के दौरान मोल भाव किया गया और अंत में रुपये 500000/- में बात तय हो गई।

सूचना की गंभीरता के दृष्टिगत तत्काल थाना कैंट पर अभियोग पंजीकृत करते हुए सूचना से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया तथा अपहृत व्यक्तियो की बरामदगी व अभियुक्तो की गिरफ्तारी हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी मसूरी के नेतृत्व में  थाना कैंट पुलिस की टीम का गठन किया गया  तथा वादी को साथ लेकर सभी संभावित स्थानों पर दबिश देने की कार्यवाही प्रारंभ की गई। इतने में अपहर्ताओं द्वारा फिर से वादी के फोन पर कॉल किया और फिरौती की रकम लेकर बल्लूपुर फ्लाईओवर के नीचे मिलने को कहा। इस सूचना पर तत्काल पुलिस टीमों को बल्लूपुर चौक के आसपास आड़ लेकर खड़ा किया गया तथा योजना के अनुसार वादी को एक बैग देकर बल्लूपुर चौक के नीचे खड़ा किया गया। रात्रि लगभग 3:30 बजे एक सेंट्रो कार पंडितवाड़ी की ओर से बल्लूपुर फ्लाईओवर की तरफ आई और बल्लूपुर से घूम कर वापस पंडितवाडी की ओर चली गई।  इसके कुछ देर उपरांत एक मारुति ब्रिजा कार पंडित वाडी की ओर से आई और फ्लाईओवर के नीचे रुक गई, उसमें से एक व्यक्ति नीचे उतर कर वादी के पास आया और उसके हाथ से बैग छीन लिया और तेजी से गाड़ी की तरफ भागा। गाड़ी के पास पहुच कर उक्त व्यक्ति द्वारा गाड़ी में से  दो व्यक्तियों को धक्का देकर नीचे गिरा दिया गया और तेजी से भागने का प्रयास करने लगे। मौजूद पुलिस टीम द्वारा तेजी दिखाते हुए मौके पर बैरियर लगाकर उक्त गाड़ी को रोक लिया और गाड़ी में मौजूद व्यक्तियों को नीचे उतार कर उनकी तलाशी ली , इतने में पीछे से एक कार सेंट्रो आती दिखाई दी जो पुलिस को देखकर  काफी दूर पीछे ही रुक गई और वापस मुड़कर पंडितवाड़ी की ओर भाग गई।।  पुलिस द्वारा पीछा कर  उक्त गाड़ी को पकड़ने का प्रयास किया गया परंतु वह पकड़ में नहीं आ सकी।  ब्रिजा कार में सवार दोनों व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया तो उनके द्वारा बताया गया की वह सस्ती जमीन का लालच देकर लोगों को बुलाते हैं और उनसे पैसा वसूलते हैं। अभियुक्तों द्वारा बताया गया की वापस गई कार में उनके साथी  सचिन व नवाब थे, जो पुलिस को देख कर भाग गए हैं।।  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय के कुशल निर्देशन व पुलिस अधीक्षक नगर तथा क्षेत्राधिकारी मसूरी के नेतृत्व में थाना कैंट पुलिस द्वारा दो अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर उनके पास से  अपहृत व्यक्तियों को सकुशल बरामद किया गया तथा अपहरण में सम्मिलित कार को कब्जे में लिया गया।