Page Nav

HIDE

Gradient Skin

Gradient_Skin

Breaking News

latest

गंगा जी मे विसर्जित की गई अरुण जेटली जी की अस्थियां

रिपोट देवेश सागर हरिद्वार   -देश के पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के अस्थि कलश आज वैदिक मंत्रोच्चारों के बीच विश्वप्रसिद्ध तीर्थस्थल हरक...


रिपोट देवेश सागर हरिद्वार


 

-देश के पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के अस्थि कलश आज वैदिक मंत्रोच्चारों के बीच विश्वप्रसिद्ध तीर्थस्थल हरकीपैडी के अस्थिविसर्जन घाट पर माँ गंगा में समा गए। इस मौके पर देश के मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक, उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, योगगुरु बाबा रामदेव के अलावा कई गणमान्य लोगों ने अरुण जेटली को श्रद्धांजलि दी। दिवंगत अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया था जिसके बाद कल रविवार को दिल्ली के निगम बोध घाट पर उनका अन्तिमसंस्कार किया गया था। 

 

-आज दिवंगत अरुण जेटली के पुत्र रोहन जेटली उनके अस्थि कलश लेकर हरिद्वार पहुंचे जहां हरकीपैडी पर उनके अस्थि कलश को दर्शनार्थ रखा गया। इस मौके पर उत्तराखंड के कई विधायक और समाज सेवी मौजूद रहे। पुत्र रोहन जेटली ने वैदिक मंत्रोच्चारों के बीच अस्थि अवशेषों को गंगा में प्रवाहित किया। सभी ने अरुण जेटली को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी और याद किया।

 

-अस्थि विसर्जन के मौके पर पहुंचे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि अरुण जेटली का चला जाना देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है हरिद्वार में अस्थि विसर्जन का एक विशेष महत्व है सभी मान्यताओं के तहत यहां पर अरुण जेटली की जी अस्थियों को विसर्जित किया गया है इस समय अरुण जेटली की देश को जरूरत थी जबकि देश में आर्थिक सुधार चल जाते समय में इनका चला जाना है यह अपूर्ण क्षति है सांसद और केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने भी अरुण जेटली के इस तरह अलप समय में चले जाने पर गहरा दुख प्रकट किया है