Page Nav

HIDE

Gradient Skin

Gradient_Skin

Breaking News

latest

राजधानी की यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए मिले जनता के सुझाव पर की गई समीक्षा गोष्टी

          यातायात व्यवस्था को और अधिक सुदृढ एवं सुगम बनाने हेतु दून पुलिस द्वारा जनता से यातायात सम्बन्धी सुझाव दिये जाने हेतु हेल्पलाईन नं...


          यातायात व्यवस्था को और अधिक सुदृढ एवं सुगम बनाने हेतु दून पुलिस द्वारा जनता से यातायात सम्बन्धी सुझाव दिये जाने हेतु हेल्पलाईन नंबर (09997233033) जारी किये गये थे। उक्त नंबरों पर जनता द्वारा यातायात से जुडी समस्याओं व अपने सुझाव प्रेषित किये गये थे। पुलिस द्वारा *प्रथम चरण* में उक्त सुझावों को संकलित कर उनका विस्तृत विश्लेषण किया गया और आज  *प्रथम चरण* की कार्यवाही पूर्ण होने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा पुलिस कार्यालय देहरादून में पुलिस अधीक्षक नगर,  पुलिस अधीक्षक यातायात,  क्षेत्राधिकारी नगर/यातायात व अन्य अधिकारी एवं कर्मचारियों के साथ गोष्ठी आयोजित की गयी । गोष्ठी के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा *प्रथम चरण* में की गयी कार्यवाही की समीक्षा की गयी तथा बताया कि अभियान के  *द्वितीय चरण* में उक्त प्राप्त सुझावो का मौके पर जाकर स्थलीय परीक्षण किया जायेगा और यह विचार विमर्श किया जायेगा कि उक्त सुझाव यातायात व्यवस्था के दृष्टिगत कारगर साबित होगें अथवा नही । महोदय द्वारा पुलिस के समस्त अधिकारियो को निर्देशित किया गया कि उक्त सुझावो का मौके पर जाकर स्थलीय परीक्षण किया जाये और जनता को यह भी अवगत कराया जाये कि जनता की सुविधा एवं यातायात को  सुगम बनाने हेतु उन्ही से प्राप्त सुझावो का स्थलीय परीक्षण किया जा रहा है,  जिससे कुछ समय के लिये जनता को यातायात में असुविधा हो सकती है इसलिये दून पुलिस की जनता से अपील है की पुलिस द्वारा यातायात को सुगम व सुद्ढ बनाने हेतु चलायी जा रही इस मुहिम में अपना सहयोग प्रदान करें । यदि उक्त परीक्षणो के यातायात के सुगम संचालन में कुछ सकारात्मक परिणाम परिलक्षित होते है तो उक्त सुझावो को यातायात हेतु बनायी जा रही कार्य योजना में सम्मिलित करते हुये लागू किया जायेगा । यदि इसके बावजूद भी जनता के सुझाव उपरोक्त हेल्पलाईन नंबर पर प्राप्त होते है तो उन्हें  भी  प्रथम चरण के अनुसार संकलित कर विश्लेषण के पश्चात द्वितीय चरण में स्थलीय परीक्षण के उपरान्त विचार-विमर्श कर लागू किया जायेगा।