अब ऐप के द्वारा जुड़वाए अपना नाम वोटर लिस्ट में

उत्तराखंड में जल्द ही जिला पंचायत के चुनाव होने जा रहे है जिसको देखते हुए आज भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के तहत सचिवालय देहरादून में कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे  मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्य ने निर्वाचक सत्यापन कार्यक्रम का शुभारंभ किया.मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्य ने बताया कि ये कार्यक्रम एक सितंबर से 15 अक्टूबर तक राज्यभर में चलेगा. कार्यक्रम के तहत बीएलओ घर-घर जाकर विधानसभा निर्वाचक नामावली में दर्ज निर्वाचकों का सत्यापन करेगें। मतदाता अपने तथा अपने परिवार के अन्य सदस्यों के नाम, पता, फोटो व जन्म तिथि आदि में संशोधन वोटर हेल्पलाईन मोबाइल एप को अपने मोबाइल फोन में स्वयं डाउनलोड करके भी कर सकते हैं। इस मोबाइल एप में नाम, पता संशोधन सम्बन्धी सभी प्रारूप उपलब्ध रहेंगे। मतदाताओं को स्वयं वेरीफिकेशन (सत्यापन) करने के लिए मोबाइल एप में पहचान पत्र के रूप में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, राशन कार्ड, शासकीय/अशासकीय पहचान पत्र, बैंक पास बुक, किसान पहचान पत्र एवं भारत निर्वाचन आयोग द्वारा अनुमोदित दस्तावेज में से कोई एक दस्तावेज अपलोड करना होगा। वहीं राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल, जन सेवा केन्द्र (सीएससी), वोटर हेल्पलाइन नम्बर-1950 के माध्यम से भी मतदाता अपने नाम, पता आदि में संशोधन कर सकते हैं।  साथ ही उन्होंने कहा कि यदि कोई बी एल ओ अपने क्षेत्र में नही जाता है तो उसकी शिकायत भी कर सकते है ऐसे बीएल ओ के खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी साथ ही उन्होंने कहा कि इस ऐप के दुवारा सभी लोग अपना वोट देने का हक प्राप्त कर सकते है