डा निशंक के बयान पर श्री हरीश रावत की टिप्पणी हास्यास्पद , कांग्रेस को दृष्टि दोष : भाजपा

भाजपा उत्तराखण्ड ने कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री श्री हरीश रावत के उस बयान को हास्यास्पद बताया है जिसमें श्री रावत ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डा रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा देश में एफ डी आई में हुई वृद्धि के वक्तव्य को ग़लत बताया है व दूरबीन देने की बात कही है।


  भाजपा प्रदेश मीडिया प्रमुख डा देवेन्द्र भसीन ने कहा कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डा रमेश पोखरियाल द्वारा देहरादून में पत्रकार वार्ता में देश में एफ डी आई में वृद्धि होने का जो बयान दिया गया था वह पूरी तरह सही है। लेकिन श्री हरीश रावत ने बिना अध्ययन किए न केवल इन आकड़ों को ग़लत बता दिया बल्कि यह भी कह दिया कि केंद्रीय मंत्री उन्हें वह दूरबीन भी दे दें जिससे यह वृद्धि दिखाई दी।
    डा भसीन ने कहा कि डा निशंक का बयान कि वित्तीय वर्ष 2019-20के प्रथम क्वाटर में देश में एफ डी आई में 28 प्रतिशत की वृद्धि हुई पूर्णतः तथ्यों पर आधारित है। अधिकृत आँकड़ों के अनुसार इस अवधि में देश में 16.3 बिलियन डालर का सीधा विदेशी निवेश आया जो पिछले वर्ष की इस अवधि से 28 प्रतिशत अधिक है। उन्होंने आगे कहा कि सबसे अधिक सीधा विदेशी निवेश दूर संचार के क्षेत्र में आया और उसके बाद सेवा क्षेत्र का स्थान है।
    डा भसीन ने कहा कि शोचनीय बात यह है कि कांग्रेस नेताओं को दृष्टि दोष हो गया है । इसलिए उन्हें सही बात भी सही रूप में दिखाई नहीं देती । यदि कांग्रेस नेताओं का दृष्टि दोष दूर हो जाए तो उन्हें सत्य को देखने के लिए दूरबीन की ज़रूरत नहीं होगी।इसके विपरीत यदि दृष्टि दोष रहेगा तो शक्तिशाली से शक्तिशाली दूर बीन से भी उन्हें सत्य दिखाई नहीं देगा।ऐसे में श्री रावत द्वारा की गई दूरबीन की माँग अर्थहीन है।