छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने आर्य कन्या इण्टर कालेज के विरुद्ध दर्ज कराया अभियोग


माननीय उच्च न्यायालय उत्तराखण्ड  द्वारा एससी/एसटी/ओबीसी दशमोत्तर छात्रवृत्ति सम्बन्धी अनिमित्ताओं की जांच SIT से कराने के निर्देश पर श्री प्रहलाद नारायण मीणा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्मोड़ा के पर्यवेक्षण में श्री अरुण कुमार वर्मा प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अल्मोड़ा श्री भूपेन्द्र सिंह वृजवाल प्रभारी, निरीक्षक कोतवाली रानीखेत, उ0नि0 नवीन चन्द्र जोशी कोतवाली अल्मोड़ा, उ0नि0 श्री सुरेन्द्र रिंग्वाल पुलिस कार्यालय अल्मोड़ा, की SIT गठित कर उक्त मामले की जांच प्रारम्भ की गई। SIT  द्वारा लगातार /अथक प्रयासों  से जनपद के सभी स्कूल/कालेजों में आवंटित एससी/एसटी/ओबीसी दशमोत्तर छात्रवृत्ति वितरण की जांच करने पर तथा  समाज कल्याण विभाग अल्मोड़ा  द्वारा उपलब्ध कराये गये अभिलेखों  की छानबीन करने एवं डाटा का विश्लेषण करने  के उपरान्त आर्य कन्या  इण्टर कालेज अल्मोड़ा  में वित्तिय वर्ष 2011-12 के छात्रवृत्ति वितरण में एक लाख ग्यारह हजार बीस रुपये की प्रथम दृष्टया गड़बढ़ी पाये जाने पर उ0नि0  नवीन चन्द्र जोशी (सदस्य SIT)  द्वारा आज  दिनांक 27.12.2019 को  गिरीश चन्द्र बिनवाल तत्कालीन प्रधानलिपिक आर्य कन्या इण्टर कालेज अल्मोड़ा व श्रीमती पंकज लता साह प्रधानाचार्य आर्य कन्या इण्टर कालेज अल्मोड़ा के विरुद्ध छात्रवृत्ति के  सरकारी धन का मिलीभगत कर गबन करने के सम्बन्ध में कोतवाली अल्मोड़ा  में मु0अ0सं0 61/19 धारा 409/420/120बी भा0द0वि0 का अभियोग पंजीकृत कराया गया है।  इस सम्बन्ध में श्री अरुण कुमार वर्मा प्रभारी निरीक्षक  कोतवाली अल्मोड़ा ने बताया कि SIT को अन्य कालेजों द्वारा भी छात्रवृत्ति वितरण में हेराफेरी करने की जानकारी प्राप्त हुई है, अभी जांच जारी है महत्वपूर्ण अभिलेख प्राप्त होने पर अभियोग पंजीकरण शीघ्र की कार्यवाही की जायेगी।