फर्जी रवन्नो की आड़ में अवैध खनन  कर राजकीय राजस्व को  नुकसान पहुंचाने वाले गैंग  के 3 सदस्य गिरफ्तार, तीन फर्जी रबन्ने व 02 डंपर वाहन सीज

 


      वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदय के निर्देशानुसार थाना विकासनगर क्षेत्र अंतर्गत अवैध खनन पर प्रभावी अंकुश लगाए जाने हेतु श्रीमान पुलिस अधीक्षक ग्रामीण महोदय व श्रीमान क्षेत्राधिकारी महोदय विकास नगर के निकट पर्यवेक्षण में  थाना विकासनगर पुलिस द्वारा  प्रभारी निरीक्षक विकासनगर के नेतृत्व में  अभियान चलाकर  अवैध खनन करने वालों के विरुद्ध  लगातार कार्यवाही की जा रही हैI विश्वस्त सूत्रों से जानकारी हुई कि विगत कुछ दिनों में थाना विकासनगर क्षेत्र में एक गैंग सक्रिय है जिसके द्वारा भीमावाला स्थित खनन लीज  से  विगत दिनों में  जारी हुए  ई-रवन्ना मैं इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के माध्यम से छेड़छाड़ कर फर्जी रबन्ने तैयार कर अवैध रूप से वाहनों में खनन सामग्री भरकर ऐसे फर्जी रवनो के आधार पर खनन सामग्री बेचकर भारी मुनाफा कमाया जा रहा है, इस गैंग के संबंध में गोपनीय रूप से जांच कर तथा उस का भंडाफोड़ करने हेतु प्रभारी निरीक्षक विकासनगर द्वारा वरिष्ठ उपनिरीक्षक विकास नगर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया गठित टीम द्वारा इस प्रकार के फर्जी रावन्ना  संचालित करने वाले गैंग  के संबंध में  जानकारी करने हेतु  प्रभावी पतारसी सुरागरसी की गई, इसी क्रम में दिनांक 28-12-2019 की रात्रि में प्रभारी निरीक्षक विकासनगर द्वारा गठित टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर चेकिंग के दौरान ढकरानी नहर पुल के पास   दो डंपर वाहनों को रोककर  चेक किया गया तो मौके पर डंपर वाहनों के साथ चल रही एक हौंडा सिटी कार से  एक व्यक्ति  नौशाद  द्वारा  दोनों वाहनों के  फर्जी रबन्ने प्रस्तुत किए गए मौके पर लीज संचालक जगबीर सिंह को भी बुला कर पूछताछ की गई तो लीज संचालक द्वारा भी बरामद कागजात  को फर्जी बताया गया प्रथम दृष्टया  षड्यंत्र के तहत फर्जी रबन्ने की आड़ में राजकीय राजस्व को हानि पहुंचाने तथा अवैध रूप से खनन सामग्री  से स्वयं को लाभ प्राप्त करना पाए जाने पर  मौके पर ही  दोनों  डंपर चालकों  तथा  रमन्ना उपलब्ध कराने वाले  व्यक्ति नौशाद  को  धारा 420 467 468  471  120 बी भादवी  के अंतर्गत  गिरफ्तार कर दोनों डंपर को सीज कर कब्जे पुलिस लिया गया तथा अभियुक्त गण के विरुद्ध षड्यंत्र के तहत लाभ कमाने की नियत से कूट रचना कर फर्जी रवन्ने तैयार कर राजकीय राजस्व को नुकसान पहुंचाने पर उपरोक्त धाराओं के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया गया मौके से मुख्य अभियुक्त शाहरुख फरार हो गया जिसकी भी गिरफ्तारी के सार्थक प्रयास किए जा रहे हैं बरामद डंपर वाहनों द्वारा किए जा रहे अवैध खनन के संबंध में  अलग से रिपोर्ट  श्रीमान अपर जिलाधिकारी महोदय खनन को प्रेषित की जा रही है! 



पूछताछ पर अभियुक्त गणों द्वारा बताया गया कि वह लालच में आ गए थे मुख्य अभियुक्त शाहरुख के कहने पर ही उनके द्वारा शाहरुख द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे फर्जी रवनो के आधार पर खनन सामग्री यमुना नदी में कहीं से भी चोरी कर डंपर में भरी जाती थी तथा भरे हुए डंपर को भीमा वाला  स्थित लीज के पास खड़ा कर देते थे तत्पश्चात शाहरुख व नौशाद फर्जी रमन्ना लेकर ट्रक ड्राइवरों को देते थे मुख्य अभियुक्त शाहरुख अपने मोबाइल फोन में किसी ऐप के माध्यम से पूर्व में लीज से जारी मूल रवनो में छेड़छाड़ कर दिनांक समय व गाड़ी नंबर आदि चेंज कर देता था ताकि रमन्ना मूल लगे तथा चेकिंग करने पर कोई आसानी से ना पकड़ सके