अब 20 जनवरी को होगी पीएम मोदी की 'परीक्षा पे चर्चा',

  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर साल बोर्ड परीक्षा से पहले स्कूली छात्रों से बातचीत करते हैं। जिसमें वह उन्हें गुरुमंत्र देने के साथ ही परीक्षा के तनाव को कम करने की सीख देते हैं। इस साल वह 20 जनवरी को 'परीक्षा पे चर्चा' करेंगे। प्रधानमंत्री को पहले यह चर्चा 16 जनवरी को करनी थी। इस संबंध में बुधवार रात को मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है। जिसमें प्रधानमंत्री के बदले हुए कार्यक्रम की जानकारी दी गई है। मंत्रालय के बयान के अनुसार, 'प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का 'परीक्षा पे चर्चा 2020' कार्यक्रम पोंगल, मकर संक्रांति, लोहड़ी, ओणम और अन्य त्योहारों के चलते अब 20 जनवरी, 2020 को सुबह 11 बजे आयोजित किया जाएगा। विद्यार्थियों के परीक्षा के तनाव को कम करने के मकसद से आयोजित किया जाने वाला यह कार्यक्रम पहले 16 जनवरी, 2020 के लिए निर्धारित किया गया था। विपक्ष पीएम मोदी के 16 जनवरी को परीक्षा पर चर्चा का विरोध करता रहा है। इसी दिन पोंगल है जो तमिलनाडु का प्रमुख त्योहार है। डीएमके ने पीएम के कार्यक्रम का हवाला देते हुए पोंगल पर तमिलनाडु शिक्षा विभाग के सर्कुलर की निंदा की थी। विभाग का कहना था कि छात्र घर में बैठकर इंटरनेट पर बातचीत देख सकते हैं। मंत्रालय का कहना है कि प्रधानमंत्री चाहते हैं कि छात्र एक शांत माहौल में परीक्षा दें और बेहतर परिणाम हासिल करने के लिए परीक्षा के समय तनाव न लें। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने परीक्षा पर चर्चा को लेकर नौ से 12वीं तक के छात्रों के बीच लघु निबंध प्रतियोगिता रखी थी। जिसके लिए छात्रों ने दो दिसंबर, 2019 से 23 दिसंबर, 2019 तक अपनी प्रविष्टियां ऑनलाइन तरीके से भेजीं। चुने हुए छात्रों को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया जाएगा। मंत्रालय के बयान के अनुसार स्कूल और कॉलेज के छात्रों के साथ प्रधानमंत्री के संवाद कार्यक्रम 'परीक्षा पे चर्चा' का पहला संस्करण 16 फरवरी, 2018 को तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित किया गया था। दूसरा संस्करण 29 जनवरी, 2019 को तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित किया गया था। तीसरा संस्करण 16 जनवरी, 2020 को तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित करने का प्रस्ताव था। हालांकि, पोंगल/ मकर सक्रांति के कारण स्कूल की छुट्टियों को ध्यान में रखते हुए इसे 20 जनवरी, 2020 को आयोजित करने का निर्णय लिया गया है।