अवार्ड देने वालों ने छात्रवृत्ति घोटालेबाजों से क्यों मोड़ा मुंह- मोर्चा

जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि दुर्भाग्य की बात है की अवार्ड देने वाले वलेने वाले दोनों ने बेशर्मी की हदें पार कर दी हैं | अभी हाल ही में श्री त्रिवेंद्र रावत जैसे व्यक्ति को, जिन्होंने ढेंचा बीज घोटाला, खनन/शराब माफियाओं से सांठगांठ, झूठा शपथ पत्र,इनके राज में जहरीली शराब से हुई दर्जनों मौत, प्रदेश में कानून का राज खत्म व कई अन्य घोटाले इनकी नाक के नीचे हुए हैं, लेकिन फिर भी इनको देश का सर्वश्रेष्ठ सीएम अवार्ड दिया गया | इसी कड़ी में प्रदेश को केंद्र सरकार द्वारा कृषि कर्मण अवार्ड प्रदान किया गया, जबकि हकीकत यह है कि प्रदेश में कृषि रकबा व उत्पादन काफी घटा है | प्रदेश के अधिकांश लोगों ने कृषि से मुंह मोड़ लिया है तथा सरकार द्वारा घटिया किस्म के कृषि उपकरण उन लोगों को भी थमाने का काम किया है, जिनकी खेती बंजर पड़ी है तथा उन्होंने खेती करनी कई वर्षों से छोड़ दी थी |  नेगी ने व्यंग कसते हुए कहा कि अगर फर्जीवाड़ा करने वालों को ही पुरस्कार मिलना है तो छात्रवृत्ति घोटाला करने वालों से यह अन्याय क्यों !