बंशीधर भगत बने उत्तराखंड बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष

भाजपा के नवनिर्वाचित विधायक बंशीधर भगत अब तक 6 बार विधायक बन चुके हैं । साल  1975 में जनसंघ पार्टी से जुड़े। इसके बाद उन्होंने किसान संघर्ष समिति बनाकर राजनीति में प्रवेश किया। राम जन्म भूमि आंदोलन में वह 23 दिन अल्मोड़ा जेल में रहे। साल  1989 में उन्होंने नैनीताल-ऊधमसिंह नगर के जिला अध्यक्ष का पद संभाला।साल  1991 में वह पहली बार उत्तर प्रदेश विधानसभा में नैनीताल से विधायक बने। फिर 1993 व 1996 में तीसरी बार नैनीताल के विधायक बने। इस दौरान उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार में खाद्य एंव रसद राज्यमंत्री, पर्वतीय विकास मंत्री, वन राज्य मंत्री का कार्यभार संभाला। वर्ष 2000 में राज्य गठन के बाद वह उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री रहे। वर्ष 2007 में हल्द्वानी विधानसभा वह चौथी बार विधायक बने। उत्तराखंड सरकार में उन्हें वन और परिवहन मंत्री बनाया गया। इसके बाद 2012 में परिसिमन  कालाढूंगी विधानसभा से उन्होंने फिर विजय प्राप्त की। फिर वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में छठीं जीत दर्ज की। प्रदेश कार्यालय में मीडिया से मुखातिब हुए भाजपा के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि,पार्टी नेतृत्व द्वारा मुझे ये दायित्व दिया गया है। इसके लिए मैं पार्टी हाईकमान को धन्यवाद देता हूं। मैं 2022 चुनाव के लिए भाजपा को ओर भी आगे ले जाने का कार्य करता रहूंगा। मुख्यमंन्त्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और पूर्व अध्यक्षो के साथ मिलकर कार्य करूंगा।