बीस सूत्री कार्यक्रम के अन्तर्गत गहन चर्चा व समीक्षा बैठक की गयी

, उपाध्यक्ष, (कैबिनेट मंत्री स्तर) राज्य स्तरीय बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति नरेश बंसल,  की अध्यक्षता में बीस सूत्री कार्यक्रम की योजनाओं के साथ-2 भारत सरकार की प्राथमिकता के अन्तर्गत यथा-जनधन, उज्जवला, सौभाग्य योजना, अटल उत्तराखण्ड आयुष्मान योजना, कौशल विकास, एन0यू0एल0एम0, किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयासों के अन्तर्गत मृदा स्वास्थ्य परीक्षण, ई-नाम, ATMA    तथा उर्वरकों के सिमित उपयोग से उत्पादन में वृद्वि, अटल नवीकरणीय व शहरी परिवर्तन के घटकों व उरेडा की संचालित योजनाओं के साथ-साथ सतत् विकास लक्ष्यों (SDGs)  के अन्तर्गत  Gender specific index  पर गहन चर्चा समीक्षा बैठक की गयी। 
जनपद देहरादून में बीस सूत्री कार्यक्रम के अन्तर्गत ‘सी’ व ‘डी’ श्रेणी वर्गीकृत योजनाओं के अनुसार ‘डी’ श्रेणी में वर्गीकृत प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के 135 किमी0 लक्ष्य के सापेक्ष मात्र 56 किमी0 सड़क निर्मित होने पर चिन्ता व्यक्त करते हुए निर्देश दिए गए कि मार्च 2020 तक लक्ष्यों कोे प्राप्त कर लिया जाय जिस पर संबन्धित नोडल अधिकारी द्वारा अवगत कराया कि 2 योजनाओं के वन अधिनियम से वाधित संस्तुति मिल जाने पर मार्च तक लक्ष्यों को पूर्ण कर लिये जाने का आश्वासन दिया गया। ‘सी’ श्रेणी में वर्गीकृत योजनायें एन0आर0एल0एम0 के अन्तर्गत रिवाल्विंग व सामुदायिक निवेश प्राप्त स्वयं सहायता समूह की प्रगति लक्ष्य संशोधन के उपरान्त भी मानक के अनुसार न होने पर पूछे जाने पर मुख्य विकास अधिकारी देहरादून द्वारा अवगत कराया गया कि भारत सरकार स्तर से धनराशि प्राप्त कम होने के कारण आशातीत प्रगति नहीं हो पायी जिस पर मा0 उपाध्यक्ष द्वारा शीघ्र धनराशि उपलब्ध कराये जाने हेतु शासन स्तर पर प्रस्ताव प्रेषित किए जाने के निर्देश दिए गए। ‘सी’ श्रेणी में वर्गीकृत अनुसूचित जाति परिवारों को आर्थिक सहायता की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी देहरादून सी रविशंकर द्वारा अवगत कराया कि लाभान्वितों का चिन्हीकरण किए जाने के निर्देश दिए गए है जिस पर दो अधिकारियों द्वारा लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया है जबकि दो अधिकारियों का वेतन आतिथि तक रोका गया है। मार्च तक लक्ष्यों को पूर्ण करने का प्रयास किया जा रहा है।
‘बी’ श्रेणी में वर्गीकृत एन0आर0डी0डब्ल्यू0पी0 आंशिक सेवित बसावटों के लक्ष्यों को पूर्ण किए जाने का आश्वासन संबन्धित पेयजल निगम के अधिकारियों द्वारा दिया गया जबकि क्रियाशील आंगनवाड़ियों में ‘बी’ श्रेणी वर्गीकृत होने पर कार्यक्रम अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि यद्यपि 5 मिनी आंगनवाड़ी कार्यकत्रि की पदोन्नति होने के कारण 5 आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की नियुक्ति प्रक्रिया गतिमान है। 
मा0 उपाध्यक्ष ने उपस्थित सभी उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र के विकासखण्डों में योजनाओं का निरीक्षण करने के साथ ही जनपद स्तरीय उपाध्यक्ष व सदस्यों के साथ अखण्डवाली भिलन में मा0 विधायक रायपुर उमेश चन्द्र शर्मा द्वारा बताये गये 16 प्रकरणों पर निरीक्षण करेंगे। उक्त के अतिरिक्त मा0 विधायक कैन्ट हरबंश कपूर द्वारा उनके विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत संचालित जर्जर अवस्था में स्कूलों का निरीक्षण तथा बिन्दाल पुल खनन चुगान से संबन्धित निरीक्षण कर मा0 विधायक को अवगत करायेंगे। सी0एस0आर0 फण्ड से विद्यालयों के सुदृढ़ीकरण का कार्य किया जाय।
मा0 उपाध्यक्ष ने जनपद स्तर पर गठित टास्कफोर्स के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए कि वे एक रणनीति के तहत योजनाओं का निरीक्षण कर वित्तीय वर्ष के अन्तर्गत योजनाओं का निरीक्षण करें, जिसमें जनपद स्तरीय बीस सूत्री कार्यक्रम समिति की सहभागिता आवश्यक होगी तथा जिस विभाग का निरीक्षण किया जायेगा उस विभाग द्वारा ही समिति को वाहन उपलब्ध कराया जायेगा। बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए गए।
बैठक में मा0 विधायक कैंट हरबंस कपूर, मा0 विधायक रायपुर उमेश चन्द्र शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष देहरादून श्रीमती मधु चैहान, जिलाधिकारी सी रविशंकर, मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत,  निदेशक, बीस सूत्री कार्यक्रम सुशील कुमार तथा जनपदीय उपाध्यक्ष सहित कई सदस्य इत्यादि उपस्थित थे।