मनचलों के खौफ से नर्स ने ड्यूटी जाना छोड़ा, घर में हुई कैद,

. प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार को बने मार्च में तीन साल पूरे हो जाएंगे, लेकिन इसके बावजूद कानून व्यवस्था पटरी पर नहीं आ पा रही है। सरकार बनते ही सीएम योगी ने महिलाओं को भयमुक्त माहौल देने के लिए कई बड़े कदम उठाए थे, लेकिन इसके बावजूद महिला अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला है मेरठ जिले के जागृति विहार का है। जहां मनचलों के डर से मेडिकल कॉलेज में काम करने वाली एक नर्स ने घर से बाहर निकलना बंद कर दिया है।
दरअसल, मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार निवासी एक नर्स प्रतिदिन मेडिकल कॉलेज में ड्यूटी करती है, लेकिन अब उसने ड्यूटी पर जाना ही बंद कर दिया है। पिछले कई महीनों से मनचलों के डर की वजह से वह अपने घर में ही कैद है। पीड़ित नर्स का कहना है कि जब वह डयूटी पर जाती है तो रास्ते में मनचले उसे न केवल परेशान करते हैं, बल्कि उसके साथ छेड़छाड़ भी करते हैं। मनचलों की इस हरकत से वह इतना परेशान हो चुकी है कि उसने ड्यूटी जाने के लिए अपना रास्ता भी बदल दिया था, लेकिन उस रास्ते पर भी मनचले उसके पीछे लग गए। पीड़िता ने बताया कि तीन युवकों ने उसका अपहरण कर दुष्कर्म की कोशिश भी की। पीड़ित नर्स का आरोप है कि उसने थाने से लेकर सीओ और आईजी तक न्याय गुहार लगाई, लेकिन कहीं उसकी सुनवाई नहीं हुई।
नर्स ने बताया कि उसने मनचलों की छेड़छाड़ का विरोध किया तो उसकी आवाज सुनकर परिजन भी मौके पर पहुंच गए। जब माता-पिता व चाचा ने विरोध किया तो मनचलों ने उनको भी बेल्ट और डंडों से बुरी तरह मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। नर्स का आरोप है कि मनचले आते-जाते उसके साथ अक्सर छेड़छाड़ करते हैं और उस पर अश्लील फब्तियां कसते हैं। इस कारण अब उसने पिछले कई महीनों से मेडिकल कॉलेज जाना छोड़ दिया है। इस बारे में जब एसएसपी अजय साहनी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि युवती की तहरीर पर त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश संबंधित थाना पुलिस को दिए गए हैं। आरोपी युवकों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की जाएगी।