मेयर सुनील गामा को ज्ञापन सौपा

राष्ट्रवादी युवा कांग्रेस NCP के प्रदेश अध्यक्ष सौरभ आहूजा के नेतृत्व में देहरादून नगर निगम में प्रस्तावित लाइसेंस फीस समाप्ति हेतु देहरादून मेयर सुनील गामा को ज्ञापन प्रेषित किया गया।
इस मोके पर NCP कार्यकर्ताओं ने नगर व्यापारिओं पर लाइसेंस शुल्क थोपे जाने पर विरोध प्रकट किया I वक्ताओं ने कहा की इस तरह के तुगलकी फरान जारी करने का कोई औचित्य नहीं I इस तरह के जन तथा व्यापार विरोधी निर्णय किसी भी स्तर पर सहन नहीं किये जायेंगें I
 इस पर प्रदेश अध्यक्ष सौरभ आहूजा ने  कहा की  राज्य की आर्थिक तथा औद्योगिक विकास दर में निरंतर गिरावट का दौर जारी है I राज्य में व्यापार तथा व्यापारी पहले ही मंदी से त्रस्त हैं I गत वर्षों में लघु व्यापारिक इकाइयां हजारों की संख्या में बंद हुई I इन हालात में जहाँ व्यापारी पहले ही GST तथा विभिन्न प्रकार के टेक्सों के बोझ उठा रहा है I कमर्शियल हाउस टेक्सों में भारी वृद्धि के चलते व्यापार से व्यय निकाल कर मुनाफा कमाना किसी रण से कम नहीं I ऑनलाइन व्यापार तथा निरंतर खुलते शॉपिंग माल तथा वालमार्ट जैसी इकाइयां खुरदुरा व्यापारिओं के व्यापार को समाप्त का रहे हैं I
इन हालात में जहाँ लघु एवं खुरदुरा व्यापारी वर्ग रियायत की उम्मीद लगाए बैठा है ,उसपर नगर निगम देहरादून द्वारा लाइसेंस फीस का बोझ लादना उन्हें समाप्त करने की दिशा में एक और कदम है I व्यापारिओं पर लाइसेंस फीस लागू करना किसी उत्पीड़न से कम नहीं I प्रश्न यही है की तंत्र की नीति व्यापार के सशक्तिकरण हेतु हैं या फिर समाप्ति हेतु I उन्हें सहायता देने के बजाये निरनतर उनके  शोषण जारी है I लाइसेंस शुल्क का कोई आधार नहीं बनता , जबकि पहले ही व्यापारी वर्ग विभिन्न तरह के टेक्स सरकार को दे रहा है I  टैक्सों में निरंतर वृद्धि से पहले ही व्यापारी वर्ग कुंठित तथा आक्रोशित है I
महासचिव तरुण भारद्वाज ने कहा कि संगठन द्वारा मांग है की  इस तरह के जनविरोधी निर्णय व्यापारी वर्ग पर ना थोपे जाएँ I इस तरह के जन विरोधी निर्णय जनता तथा व्यापारी के हितों को ध्यान  में रख लाइसेंस फीस के निर्णय को वापस लेने हेतु आवश्यक कदम उठायें I
अन्यथा की दशा में व्यापारी वर्ग तथा जनता की हितों को सुरक्षित करने हेतु राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सड़कों पर उतर जनांदोलन करने हेतु बाध्य होगी जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी नगर निगम तथा शासन की होगी I
ज्ञापन प्रेषित करने वालों में श्रीओम पांडेय, पुष्पिंदर पवार,साकिब अहमद, अमित पंत ,सुरेन्द्र बिष्ट, आशीष भट्ट ,आशीष बडोनी, कपिल बिष्ट ,रुद्रेश शर्मा ,शानू सिदिक़्क़ी, शहबाब, एवं कई व्यापारी मौजूद थे।