प्रदेश में चलाए जा रहे वाणिज्य कर विभाग द्वारा पंजीकरण अभियान के तहत असिस्टेंट कमिश्नर विकास चंद्र ने टीम को साथ लेकर कस्बे में व्यापारियों से जनसंपर्क किया

उन्होंने जीएसटी पंजीकरण के लाभ के बारे में व्यापारियों को विस्तार से समझाया।वाणिज्य कर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर विकास चंद्र के नेतृत्व में वाणिज्य कर अधिकारी वीरेंद्र कुमार पांडे आदि ने कस्बे में सैकड़ों व्यापारियों से जनसंपर्क किया। टीम ने स्टाल लगाकर कर गुड्स सर्विस टैक्स (जीएसटी) के बारे में व्यापारियों को विस्तार से समझाया। इसके तहत बाजारों में ऐसे कारोबारियों को सूचीबद्ध किया गया, जिन्होंने किन्हीं कारणों से अभी तक जीएसटी के तहत पंजीकरण नहीं कराया है। उन्होंने जीएसटी पंजीकरण के लाभों को विस्तार से बताते हुए कहा कि राज्य में पंजीकृत व्यापारियों को दस लाख रुपये की व्यापारी दुर्घटना बीमा योजना का लाभ मिलेगा। इसके लिए कोई प्रीमियम नहीं लिया जाएगा। देश के किसी भी राज्य से खरीदे गए माल पर आइटीसी की निर्बाध सुविधा मिलेगी। डेढ़ करोड़ तक वार्षिक आय वाले छोटे कारोबारियों को समाधान योजना का लाभ मिलेगा। किसी भी व्यापारी को जीएसटी कर प्रणाली के कार्य हेतु किसी भी कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं है। सभी कार्य घर बैठकर ऑनलाइन कर सकते हैं। उन्होंने व्यापारियों और व्यापार संगठनों के पदाधिकारियों से मिलकर सहयोग की अपील की है इस मौके पर व्यापार मंडल अध्यक्ष अशोक राठौर' महामंत्री राजकुमार बत्रा' अनिवेश कांबोज' नमन खुराना 'उमेश कंबोज'  विनोद कुमार गुप्ता एडवोकेट' अरविंद चौहान' दीपक वर्मा' पवन चौहान' शुभम' अफजाल' रोहित' अरविंद कांबोज' लगभग सैकड़ों व्यापारी मौजूद रहे

रिपोर्ट - सुनील जायसवाल