दरगाह साबिर पाक पर वक्फबोर्ड का नही रहा कोई अधिकार,,


उत्तराखंड वक्फबोर्ड की सबसे अधिक आय वाली दरगाह, अब वक्फबोर्ड के हाथों में नही है। वित्तीय पावर से लेकर अन्य तमाम व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी जिला प्रशासन के अधीन है। जबकि अधिकांश लोग यही जानते है कि दरगाह साबिर पाक वक्फबोर्ड के अधीन चल रही है। 
जानकारी के मुताबिक़ 5 जनवरी 2012 को मान्य न्यायालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार दरगाह साबिर पाक की तमाम व्यवस्थाओं का जिम्मा प्रशासन को सौंपा गया था, दरगाह साबिर पाक से वक्फबोर्ड के तमाम अधिकार सीज करते हुए प्रशासन को पूर्ण जिम्मेदारी दी गयी थी। कलियर के एक स्थानीय निवासी के द्वारा मान्य न्यायालय में पीआईएल डाली गई थी जिसपर सुनवाई के दौरान ये आदेश जारी हुआ था। अब दरगाह साबिर पाक की तमाम व्यवस्थाओं का जिम्मा जिला प्रशासन देख रहा है इसमे वक्फबोर्ड उत्तराखंड का कोई दखल नही है। शासन द्वारा नियुक्त सीईओ के द्वारा जितने भी मामलों में दख़ल किया गया है वो शासन के बतौर अधिकारी की हैसियत से किया गया है। तो ये कहना गलत नही होगा की वक्फबोर्ड की सबसे अधिक आय वाली दरगाह साबिर पाक अब वक्फबोर्ड के हाथों में नही रही।