दर्शनी गेट पर दोने पत्तल की दुकान में लगी आग फायर बिर्गेड की चार गाड़ियों ने पाया आग पर काबू

नगर नियंत्रण कक्ष देहरादून द्वारा समय 05ः45 प्रातः वायरलैस सैट पर सूचना प्राप्त हुई कि लक्खीबाग चौकी के निकट दर्शनी गेट में राजधानी पत्तल स्टोर में आग लगी है, तत्काल फायर स्टेशन देहरादून से फायर टैण्डर मय यूनिट घटनास्थल के लिये रवाना हुआ तथा त्वरित कार्यवाही करते हुए 05 मिनट के रिस्पान्स टाईम में घटनास्थल पर पहुंचा तथा अग्निशमन कार्यवाही आरम्भ की गई। आग श्री आशीष सिंघल पुत्र श्री राकेश सिंघल 80 गांघी रोड दर्शनी गेट,संकरी गली में स्थित राजधानी पत्तल स्टोर में लगी थी। आग की भीषण लपटो एंव आसपास के भवनों में आग को बढने से रोकथाम हेतु अग्निशमन अधिकारी देहरादून श्री अर्जुन सिंह रांगड द्वारा अग्निकाण्ड पर चार फायर टैण्डर एवं अधिकाधिक अग्निशमन कर्मियों को साथ लेकर अग्निस्थल पर स्वयं उपस्थित होकर अग्निशमन कार्य किया गया। आग पत्ता स्टोर में ठसाठस भरे दोनो पत्तलो प्लास्टिक/थर्माकोल गिलास, प्लास्टिक गिफ्ट आईटम में होने के कारण आग चार फायर टैण्डरों द्वारा लगातार आग पर पानी डाला गया आग के ताप से पत्ता स्टोर से लगे श्री प्रकाश के टिन शैड(निवास) में आग पकड ली जिसे फायर सर्विस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए बुझा दिया गया  आग पर लगातार पानी डालने एव दोमंजिले भवन के अन्दर प्रवेश न होने के कारण व इस प्रकार की स्थिती में पूर्व में की गई मॉकड्रिल में पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा प्राप्त दिशा निर्देशो के अनुरूप तत्काल मौके पर जेसीबी मंगायी गयी तथा जेसीबी से दो मंजिले भवन के सामने की दीवार को तोडकर भवन के अन्दर प्रवेश कर कर्मचारियों द्वारा आग से जले सामान को फायर हुक फावडे आदि से खींचकर बाहर निकाला साथ ही साथ ही साथ बॉबकेट व टै्रक्टर से जले हुए सामान को तत्काल मौके से हटाया गया। गौरतलब है कि पल्टन बाजार की भौतिक स्थिती(संकरी गलियो) को देखते हुए माह दिसम्बर 2019 में ही पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदय द्वारा पल्टन बाजार क्षेत्रान्तर्गत अग्निकाण्ड का मॉकड्रिल अभ्यास कराया गया था तथा उस मॉक ड्रिल के उपरान्त मुख्य अग्निशमन अधिकारी को स्पष्ट निर्देश जारी किये गये थे कि कोतवाली नगर क्षेत्रान्तर्गत एंव अन्य क्षेत्रों की संकरी गलियों में अग्निकाण्ड घटित होने पर क्या कार्यवाही की जायेगी इसके मानक तय किये गये थे। पूर्व में किये गये मॉक ड्रिल तय दिशा निर्देशों के अनुरूप आज के अग्निकाण्ड मे ंकार्यवाही की गई जिससे कि भारी जान-माल की क्षति होने से बचाया जा सका।