मतदान के दिन भी 'हनुमान' पर राजनीति, तिवारी और केजरीवाल फिर भिड़े

दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान शुरू होने के बावजूद नेताओं का हमला जारी है। केजरीवाल की 'हनुमान चालीसा' को लेकर शुरू हुई सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी ने मतदान करने के बाद एक बार फिर मुख्यमंत्री केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने हनुमान मंदिर में केजरीवाल द्वारा की गई पूजा को लेकर कहा कि केजरीवाल पूजा करने गए थे, या हनुमान जी को अशुद्ध करने? उन्होंने एक हाथ से जूता उतारकर, उसी हाथ से माला लेकर... क्या कर दिया? मनोज तिवारी ने कहा कि जब नकली भक्त आते हैं तो यही होता है। मैंने पंडित जी को बताया, उन्होंने बहुत बार हनुमान जी को धोया। इसपर केजरीवाल ने भी ट्वीट कर जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि मैंने एक टीवी चैनल पर हनुमान चालीसा पढ़ा है, जिसे लेकर भाजपा वाले लगातार मेरा मजाक उड़ा रहे हैं। कल मैं हनुमान मंदिर गया। आज भाजपा नेता कह रहे हैं कि मेरे जाने से मंदिर अशुद्ध हो गया। ये कैसी राजनीति है? भगवान तो सभी के हैं। भगवान सभी को आशीर्वाद दें, भाजपा वालों को भी। सबका भला हो। वहीं मनोज तिवारी के इस बयान पर आप नेता संजय संह ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को इतनी अछूत भावना से देखती है भाजपा? इससे ज्यादा गिरा हुआ और घटिया बयान कुछ नहीं हो सकता। अभी भी आप उस युग में हैं जहां दलितों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाता था। श्री राम भी अब भाजपा को नहीं बचा सकते। मालूम हो कि इससे पहले भी केजरीवाल द्वारा हनुमान चालिसा पढ़े जाने को लेकर सियासत गर्मा चुकी है।