फोन पर बात करने से नाराज पति ने दिया तीन तलाक
लकसर क्षेत्र में एक ओर मुस्लिम महिला पर तीन तलाक की बिजली गिरी है --  मायके वालों से फोन पर बात करने से नाराज पति ने पत्नी को तीन बार तलाक तलाक तलाक कह कर अपनी जिंदगी से निकाल दिया--इस मामले में पुलिस ने पीड़िता की ओर से  पति समेत ससुराल पक्ष के चार लोगों के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज किया है-- आपको बता दें सलीम निवासी रुड़की ने लक्सर कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसकी  भतीजी मेहनाज की शादी 26 सितंबर 2016 में अरशद पुत्र शौकत निवासी मुंडाखेड़ा के साथ हुई थी शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग महनाज को तरह-तरह से प्रताड़ित व परेशान करते चले आ रहे थे गत दिसंबर माह में ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा महनाज को मारपीट कर घर से निकाल दिया गया जिस पर वह कई माह तक अपने मायके में रही इसी बीच कुछ रिश्तेदारों के बीच में आ जाने पर दोनों पक्षों के बीच हुए समझौते के तहत मेहनाज को ससुराल वापस भेज दिया गया था लेकिन कुछ दिनों बाद ससुराल पक्ष के लोगों का वही रवैया फिर से शुरू हो गया तथा उसे तरह-तरह से प्रताड़ित व मारपीट करना शुरू कर दिया गया गत 31 जनवरी को महनाज फोन पर मायके से बात कर रही थी कि इसी बीच उसका पति मौके पर आ गया तथा मेहनाज को बात करता देख वह भड़क उठा तथा गाली गलौज करते हुए उसके साथ जमकर मारपीट की गई इसी बीच महनाज का ससुर रियासत देवर हैदर ननंद मौसम मौके पर आ गई जिन्होंने अरशद को उसे तीन तलाक देने के लिए उकसाया गया जिस पर अरशद द्वारा मेहनाज को तीन बार तलाक कहा तथा धक्के मार कर घर से बाहर निकाल दिया गया जिस पर मेहनाज अपने मायके पहुंची तथा मामले की जानकारी परिजनों को दी गई परिजनों द्वारा ससुराल पक्ष के लोगों से बात करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने उनके साथ भी बदसलूकी करते हुए मेहनाज को अपनाने से साफ इंकार कर दिया जिस पर परिजनों द्वारा मामले की जानकारी लक्सर पुलिस कोतवाली को दी गई -- कोतवाल वीरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि महनाज के चाचा की शिकायत पर ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है मामले की जांच की जा रही है