उत्तराखंड में शुरू हुए रेपिड टेस्ट

उत्तराखंड में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए जिला प्रशासन भी अब सख्त होता नजर आ रहा है जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव की माने तो उनका कहना है कि अब हमने रेपिड टेस्ट भी शुरू कर दिए अब हम रेपिड टेस्टिंग कर रहे हैं रेपिड टेस्टिंग से एंटीबायोटिक टेस्ट है उससे कोरोना पोस्टिव होने की पुष्टि नहीं होती है उससे जो भी टेस्ट होंगे उससे सिर्फ फायदा यह होगा कि जिसका उस टेस्ट में सैंपल पॉजिटिव आता है तो उनका फाइनल टेस्ट किया जाएगा इससे फायदा यह होगा कि कम्युनिटी में बड़े लेवल पर हम ऐसे टेस्ट कर पाएंगे अभी कोरन्टीन जो लोग हैं उनका रेपिड टेस्ट किया जा रहा है