मैसूर कर्नाटका में फंसे विद्यार्थियों की वापसी के लिए नोडल अधिकारियों से मिले धस्माना

 उत्तराखंड के विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्र छात्राएं जो समर कोर्स व इंटर्नशिप करने के लिए कर्नाटका के मैसूर में गए हुए थे व लॉक डाउन की वजह से वहां पिछले पचास दिनों से अधिक समय से फंसे हुए हैं उन सभी छात्र छात्राओं को उत्तराखंड वापस लाने के लिए आज श्री धस्माना कोविड 19 के नोडल अधिकारियों श्री शैलेश भगोली व श्री संजय गुंज्याल से मिले व उनसे विस्तार से  बच्चों की वापसी पर चर्चा की। श्री संजय गुंज्याल ने कहा कि शाशन उत्तराखंड वापस आने के इछुक्क प्रवासियों व बाहर अध्ययनरत   बच्चों को वापस लाने का पूरा प्रयास कर रहा है किंतु बहुत बड़ी संख्या होने के कारण थोड़ा इंतज़ार करना पड़ रहा है । उन्होंने श्री धस्माना को आश्वस्त किया कि मैसूर गए छात्र छात्राओं को विशेष रैगाडी से देहरादून लाया जाएगा बेशक थोड़ा समय अधिक लगे। 
श्री धस्माना ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि अगर शाशन स्तर पर कोई दिक्कत हो रही हो तो इस संबंध में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को कर्नाटका के मुख्यमंत्री से कह कर व्यवस्था करवानी चाहिए । उन्होंने कहा कि सरकार को सबसे पहले प्राथमिकता के आधार पर विद्यार्थियों को वापस लाना चाहिए था लेकिन इसमें सरकार ने चूक कर दी जिसके कारण पिछले पचास दिनों से ये बच्चे मैसूर में ही फंसे हैं और इनके अभिभावक अत्यधिक परेशान हैं।