कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने डीजी हेल्थ को सोपा ज्ञापन

उत्तराखंड राज्य के सभी हिस्सों में लगातार बढ़ रहे कोरोना के प्रकोप से निपटने के लिए हो रही हिला हवाली, कोविड19 टिस्ट के बढ़ते बैकलॉग व निजी लैबों में जनता को फ्री टैस्ट आदि मांगों को लेकर आज प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना साथियों के साथ राज्य की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉक्टर अमीता उप्रेती के महानिदेशालय स्थित कार्यालय धमक गए व उनसे सीधे सीधे राज्य भर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर आक्रोश व्यक्त करते हुए उनसे सवाल किया कि 15 मई तक जो संक्रमण 100 से नीचे था वो आज पांच हज़ार कैसे पहुंच गया ? उन्होंने पूछा कि आज साड़े चार  महीने बीत जाने के बाद भी राज्य के हर जिले में टेस्टिंग लैब क्यों नहीं बनाई गई? श्री धस्माना ने महानिदेशक से पूछा कि राज्य में टैस्टिंग सैम्पल के बैकलॉग क्यों कम नहीं हो रहे और राज्य में कितने कोविड19 समर्पित हॉस्पिटल हैं?
श्री धस्माना के प्रश्नों के जवाब में महानिदेशिका डॉक्टर अमीता उप्रेती ने कहा कि कोविड19 संक्रमण की गति प्रवासियों के आने के बाद बड़ी उनके बारे में सरकार ने जो निर्णय लिया उसका पालन विभाग ने किया,उन्होंने कहा कि टैस्टिंग लैब की स्थापना आईसीएमआर के दिशा निर्देशों व मानकों के अनुसार होती है और टैस्टिंग बढ़ाने की भरसक कोशिश की जा रही है जिसमें रैपिड व टू चैनल टैस्टिंग की जा रही है जिसकी रिपोर्ट तत्काल मिल जाती है। डॉक्टर उप्रेती ने कहा कि निजी हहस्प्तालों व लैब्स में टैस्टिंग व इलाज का खर्चा करने का निर्णय सरकार के स्तर का मामला है। उन्होनें कहा कि जहां तक निजी हस्पतालों में कोविड समर्पित बैड आईसीयू व वेंटिलेटर आरक्षित करने का प्रश्न है तो स्थितियों के अनुसार यह निर्णय लेने में विभाग को कोई परेशानी नहीं होगी। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि विभाग अपना बेहतरीन देने की कोशिश में दिन रात एक कर रहा है और आगे भी पूरी मेहनत करेगा।