नालो से हटेगा अतिक्रमण , चिह्नीकरण की प्रक्रिया हुई शुरू
 


 पिछले दिनों  मॉनसूनी बारिश के बाद टीचर्स कॉलोनी, गोविंदगढ़ और मित्रलोक कॉलोनी के घरों में पानी घुस गया था. लोगों का राशन समेत कीमती सामान बर्बाद हो गया था. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जिलाधिकारी को इस समस्या के तुरंत निदान का आदेश दिया था. जिलाधिकारी ने अफसरों के साथ मौके पर निरीक्षण किया.निरक्षण में पाया गया कि अतिक्रमण जलभराव की मुख्य वजह है. बिंदाल नदी और नालों के किनारे हुआ अतिक्रमण इस जलभराव की जड़ है. डीएम ने तत्काल एसडीएम सदर के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया. ये कमेटी अतिक्रमण चिन्हित कर जिलाधिकारी को अपनी रिपोर्ट देगी. इसके बाद अभियान चलाकर बरसाती पानी की निकासी में बाधक बने अतिक्रमण को ध्वस्त किया जाएगा.