धोखाधड़ी करने के आरोप में सात अभियुक्त हुए गिरफ्तार लाखो रुपये बरामद
  जनपद में ठगी और धोखाधड़ी की लगातार प्राप्त हो रही शिकायतों के संदर्भ में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, महोदय द्वारा सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया था कि जनपद में चल रहे ऐंसे संगठित गिरोह, जो बहुत कम समय में धनराशि को कई गुना बढ़ाने का लालच देकर लोगों के साथ ठगी कर रहे हैं, के संदर्भ में उनके फरार होने से पहले प्रभावी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उक्त निर्देशों के क्रम में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, देहरादून महोदय द्वारा देहात क्षेत्र में ऐंसे गिरोह पर दृष्टि रखने हेतु क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष रायवाला के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम के सदस्यो द्वारा बड़ी लगन व मेहनत से पतारसी व सुरागरसी करते हुए धोखाधड़ी के अपराध एव उसमें लिप्त ऐसे व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही करने हेतु क्षेत्र में सतर्क दृष्टि रखी जा रही थी, जिसके फलस्वरुप दिनांक 10-08-19 को हरिपुरकंला में उक्त प्रकार की धोखाधड़ी की सूचना कर्म0 गणो के द्वारा थानाध्यक्ष रायवाला को दी गयी, जिसमें उनके द्वारा बताया गया कि हरिपुर कलां चौकी क्षेत्र में स्थित उमा विहार कालोनी में कुछ व्यक्तियों द्वारा एयरवे इन्टरप्राइजेज नाम से एक कम्पनी खोली गयी है, जिसकी आड़ में इनके द्वारा रुपये जमा करके पन्द्रह दिन के भीतर प्रतिदिन किस्त के रुप मे डेढ गुना रुपया वापस किये जाने का लालच देकर लोगों को गुमराह किया जा रहा है, जिससे ऐंसे लालच में पड़कर अधिक लोगों इनसे जुड़ रहे है। जब इनके पास करोड से अधिक रुपया हो जायेगा तो ये रुपया लेकर भाग जायेंगे। उक्त सूचना पर थानाध्यक्ष अमरजीत सिंह रावत मय हमराही अधि0/कर्म0गणों के थाना रायवाला से प्राइवेट वाहनों से उमा विहार कालोनी के लिए रवाना हुए तथा पूर्व चौकी सप्तऋषि के खाली भवन के पास पहुचकर थानाध्यक्ष रायवाला द्वारा योजना के तहत का0 पंकज तोमर को 2000/- रुपये का एक नोट जिसका नम्बर  5CN992929 है, देकर हरिपुर कलां चौकी क्षेत्र में स्थित उमा विहार कालोनी में एयरवे इन्टरप्राइजेज कम्पनी में सूचना को तस्दीक करने के लिये भेजा गया तो कम्पनी में कार्यरत एक व्यक्ति जोगिन्दर द्वारा 2000/- रुपये जमा करके पंकज का भी पैसे लेकर कार्ड बना दिया, जिससे उक्त सूचना की सही पुष्टि हो गयी। का0 पंकज तोमर के द्वारा बताया गया की 07 व्यक्ति द्वारा हरिपुरकंला क्षेत्र में *Shishu Yojna Uttrakhand*  के नाम से कार्ड छपवाकर  लोगो को 10,000/-  रुपये के बदले में 15 दिनो में 15,000/-  रुपये देने का लालच  देकर धोखाधड़ी से लोगो से अवैध रुप से अवैध लाभ अर्जित किया जा रहा है । थानाध्यक्ष रायवाला मय हमराही अधि0/कर्म0गणो के एयर वे इन्टरप्राइजेज उमा विहार थाना रायवाला क्षेत्र पहुँचे, जहाँ से सात अभियुक्त जोगिन्दर आदि को गिरफ्तार किया गया, जिसके द्वारा बताया गया की जनता के व्यक्तियो को लेन देन हेतु बड़ी धनराशि उपलब्ध है। प्रकरण की पारदर्शिता हेतु  पुलिस उपाधीक्षक ऋषिकेश को घटना क्रम से अवगत कराते हुए मौके पर पँहुचने का अनुरोध किया गया जिनके समक्ष *एयरवे इन्टरप्राइजेज कार्यालय* के पीछे स्थित कमरे की अलमारी से नगद 46,01,500/ रुपये बरामद हुए  तथा कार्यालय से कार्ड रजीस्टर एंव डायरी ATM कार्ड , चैक बुक बरामद हुए । इस प्रकार धोखाधड़ी करके जनता के रुपये को लेकर भागने की फिराक में रहने वाले सात अपराधियो को पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया तथा जनता की खून पसीने की कमाई को लेकर भाग जाने से बचाया गया। *अभियुक्त जोगिन्द्र पूर्व में दिल्ली पुलिस में था, जो बरखास्त होकर अपने साथ कुछ लोगो को जोड़कर लोगो से धन ऐठने के धन्धे में लिप्त था* , इस सम्बन्ध में थाना रायवाला पर मु0अ0सं0 -99/2019 अन्तर्गत धारा 420 भादवि0 व 45(S),58V,5(a)  भारतीय रिजर्व बैंक अधि0 1934 पंजीकृत हुआ है। 

  *उल्लेखनीय है, कि धोखाधड़ी से पीडित व्यक्तियो के पुलिस में शिकायत दर्ज कराने से पूर्व ही पुलिस द्वारा ना केवल धोखाधड़ी करने वाले ऐसे गिरोह के सदस्यो को पकड़ा गया है बल्कि भारी मात्रा में धोखाधड़ी कर हासिल की गयी धनराशि को भी बरामद किया गया है ।

 

जनता के व्यक्तियों को गुमराह करके धोखाधड़ी की नियत से धनराशि जमा कराकर 15 दिवस में उसका धन डेढ गुना वापस करने का लालच देकर अवैध रूप से धन संचित कर फरार हो जाते थे