एबीवीपी के हुए दो गुट एक गुट लड़ेगा निर्दलीय चुनाव
राजधानी देहरादून के छात्र संघ चुनाव जोरों पर है तो वही डी ए वी  कॉलेज में एबीवीपी के दो गुट होते  नजर आ रहे है एबीवीपी का एक गुट अब निर्दलीय मैदान में उतरने को तैयार है आपको बताते चलें की टिकट को लेकर एबीवीपी में घमासान मचा हुआ है पूर्व छात्र अध्यक्ष शुभम सिमल्टी की माने तो उनका कहना है की लगातार डी ए वी कॉलेज में 12 सालों से एबीवीपी का अध्यक्ष बनता आ रहा है जिसमें हम जी जान से मेहनत करते हैं लेकिन कुछ बाहरी लोग एबीवीपी में आकर मोहल को गंदा कर रहे हैं और एबीवीपी के शीर्ष नेतृत्व ऐसे लोगों को टिकट दे रहे है जो पहले निर्दलीय चुनाव लड़ चुके हैं और आज एबीवीपी में आकर टिकट हासिल करने में कामयाब हो रहे हैं इसी से नाराज होकर अब हमने अपने निर्दलीय प्रत्याशी को मैदान में उतारा है

 

 निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में डीएवी कॉलेज का चुनाव लड़ रहे निखिल का कहना है की पिछले 9 सालों से मैं कॉलेज के साथ-साथ एबीवीपी की भी सेवा कर रहा हूं लेकिन एबीवीपी के शीर्ष नेतृत्व ने हमारी अनदेखी करते हुए भारी व्यक्तियों को टिकट दिया है जिससे हम सभी नाराज हैं इस नाराजगी की वजह से अब हमने निर्दलीय चुनाव लड़ने की ठानी है साथ ही यदि बात करें चुनौती की तो हमारे सामने एबीवीपी हो या फिर एनएसयूआई हो कोई भी चुनौती नहीं है क्योंकि सभी छात्र हमारे साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े है और इस बार निर्दलीय ही चुनाव जीत कर आएंगे