हादसों के बाद परिवहन विभाग जागा स्कूल बसों पर की कार्यवाही

जहां एक तरफ डग्गामार बसों का खेल जारी है वहीं अब दूसरी ओर स्कूली बसों में भी नियमों का धड़ल्ले से उल्लंघन किया जा रहा है बता दें राजधानी देहरादून में कई ऐसे स्कूल हैं जिनके द्वारा संचालित की जा रही बसों में नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है इसके साथ ही बिना मानकों के बसें संचालित की जा रही हैं जिससे कभी भी स्कूली बच्चों के साथ कोई दुर्घटना हो सकती है वही परिवहन विभाग की लापरवाही के चलते कभी भी भीषण दुर्घटना हो सकती है लगातार परिवहन विभाग दावे करता रहा है कि  लगातार चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है दोषी पाए गए बस संचालकों के खिलाफ कार्यवाही की हैं लेकिन हकीकत कुछ और ही बयां करती है लगातार बिना मानकों के स्कूल बस से धड़ल्ले से दौड़ रही हैं और साथ ही ओवरलोडिंग भी कर रही हैं वहीं इसको लेकर सामाजिक कार्यकर्ता उशा नेगी का साफ तौर पर कहना है जिन स्कूलों की बसों में नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए और दोषी विभागीय अधिकारियों को  तलब भी किया जाए क्योंकि लगातार शिकायतें आ रही हैं कि स्कूल संचालक बसों में ओवरलोडिंग के साथ-साथ बच्चों की जान से भी खिलवाड़ कर रहे हैं।